मोबाइल चलाते हैं तो इन उपयोगी ट्रिक्स को भी जानिए Featured

आजकल डार्क थीम का जमाना है और इसके पीछे कारण यह है कि इसमें बैटरी की पावर तो कम लगती ही है, साथ ही आपकी आंखों को भी कम नुकसान पहुंचता है। इसके लिए आप मोबाइल की सेटिंग में जाएं और वहां पर डार्क करके सर्च करें।

आज दुनिया में हर किसी के पास स्मार्ट फोन मौजूद है। जिनके पास नहीं है, आने वाले दिनों में उनके पास भी स्मार्टफोन हो ही जाएगा, क्योंकि तमाम कम्पनियां इसके लिए भिन्न योजनाओं पर कार्य जो कर रही हैं।

ज़ाहिर तौर पर स्मार्टफोन से तमाम कार्य बेहद आसानी से किए जाने लगे हैं। पहले यह केवल कॉल के लिए, एसएमएस के लिए ही इस्तेमाल होता था, लेकिन अब यह किसी कंप्यूटर से भी ज्यादा उपयोगी प्रतीत होने लगा है।
इसे भी पढ़ें: कितने तरह के होते हैं डिजिटल पेमेंट्स, क्या-क्या बरतें सावधानी

जी हां! ऑफिस का काम हो, चाहे घरेलू काम हो, चाहे वीडियो कॉल हो, या किसी फाइल को एडिट करना हो, चाहे वीडियो एडिटिंग करनी हो, या फिर बड़ी-बड़ी प्रेजेंटेशन ही क्यों ना बनानी हो, हर कार्य मोबाइल पर होने लगा है।

ऐसे में बहुत सारी इसमें ट्रिक्स हैं, ट्रिप्स हैं, जो आप पहले से जानते हैं और इन्हीं में से आज हम आपको कुछ उपयोगी टिप्स बताएंगे जो आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाली हैं। आइए जानते हैं...

बगैर पासवर्ड के वाईफाई यूज करें

अगर आप एंड्रॉयड 10 वर्जन यूज करते हैं तो वाईफाई सेटिंग में जाकर क्यूआर कोड स्कैन करें और बिना वाई फाई पासवर्ड के दूसरे मोबाइल में इंटरनेट चला सकते हैं। हालांकि एंड्राइड 10 वर्जन से निचले वर्जन में यह सुविधा उपलब्ध नहीं है।

वाईफाई कॉलिंग से नेटवर्क इंप्रूव करें

जी हां! कई बार आपके मोबाइल में नेटवर्क की समस्या आती है। ऐसे में आप सेटिंग के सिम ऑप्शन में जाएं और जिस नंबर की इंप्रूवमेंट आप चाहते हैं, उस पर क्लिक करते ही आपको वाईफाई कॉलिंग का फीचर दिखेगा। अगर आपका फोन इसे सपोर्ट करता है तो आप इसे इनेबल करें और इससे आपकी कॉल की क्वालिटी काफी इंप्रूव होगी। नेटवर्क अगर कम रहा है तो भी यह संभव है कि आप बात कर पाएंगे।

फिशिंग से रहें सावधान

अचानक आप कोई गेम खेल रहे हों या कोई एप्लीकेशन यूज कर रहे हों और आपके सामने संदेश आता है कि आपके फोन में वायरस आ गया है तो आप का घबराना स्वभाविक है। ऐसी स्थिति में उस संदेश के नीचे अक्सर लिखा रहता है कि अपने फोन को स्कैन करें या अमुक ऐप डाउनलोड करें और यह वह गलती होती है जो किसी मोबाइल यूजर को नहीं करनी चाहिए।

फिशिंग में कई बार आप अपनी सेंसिटिव जानकारी तो शेयर करते ही हैं, साथ ही अन-नेसेसरी एप्लीकेशन भी डाउनलोड करते हैं। ऐसी स्थिति में आप बिल्कुल ना घबराएं और जो भी सामने लिखा हुआ है, उससे किसी भी तरीके से परेशान ना हों।
ध्यान से अगर आप उन संदेशों को देखेंगे तब खुद समझ जाएंगे कि वह फेक संदेश है। ऐसे संदेश आते ही आप कहीं क्लिक न करें, बल्कि उस पूरे प्रोग्राम / ऐड को ही टास्कबार से रिमूव कर दें।

डार्क थीम एक्टिवेट करें

आजकल डार्क थीम का जमाना है और इसके पीछे कारण यह है कि इसमें बैटरी की पावर तो कम लगती ही है, साथ ही आपकी आंखों को भी कम नुकसान पहुंचता है। इसके लिए आप मोबाइल की सेटिंग में जाएं और वहां पर डार्क करके सर्च करें। अगर आपके मोबाइल में डार्क थीम अवेलेबल होगी तो आपके सामने ऑप्शन आ जाएगा। वहां से आप इसे फीचर को एक्टिवेट कर सकते हैं। यकीन मानिए यह बेहद उपयोगी फीचर है, तो इसका प्रयोग अवश्य ही करें।

मोबाइल चोरी होने पर करें 'ये काम'

क्या आप उनमें से हैं, जो फोन चोरी होने पर उसे यूं ही जाने देते हैं। अगर ऐसा है तो फिर आप सावधान हो जाएं। सबसे पहले आप फोन खोने पर घबराएं नहीं, बल्कि सावधानी से सोचें कि फोन क्या आपने कहीं रखा है या फिर कहीं रास्ते में गिर गया है। अगर आप अपने फोन पर रिंग करते हैं और रिंग जाती है तो आप उसे ढूंढ सकते हैं, किंतु अगर उस पर रिंग नहीं जा रही है, तो बहुत उम्मीद है कि आपका फोन चोरी हो चुका है। इसके लिए सबसे पहले आपको अपना सिम कार्ड ब्लॉक करना होता है।

यह बहुत आवश्यक है, अन्यथा आप मुसीबत में फंस सकते हैं। इसके लिए आप अपने ऑपरेटर को किसी और नंबर से कॉल करके नंबर ब्लॉक कराएं। उसके बाद आपको एंड्राइड का फाइंड माय डिवाइस या फिर आई ओ एस का फाइंड माय इस्तेमाल करें। इसके लिए पहले से ये एप्स आपके फोन में एक्टिव होना चाहिए। इससे आपके फोन के मिलने के चांसेस बढ़ जाते हैं। अगर आपको फोन नहीं भी मिलता है तो आप उसे फाइंड माय डिवाइस से लॉक कर सकते हैं या फिर अपना डाटा इरेज कर सकते हैं।

अगर आपका फोन नहीं मिलता है तो आप कानूनन अपनी जांच आगे बढ़ाएं और अपना आईएमइआई नंबर भी ब्लॉक कराएं। इसके लिए आप ceir.gov.in पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं, ताकि आप आगे किसी मुसीबत में ना फंसे।

हालांकि आईएमईआई नंबर ब्लॉक करने से पहले आपको अपनी कंप्लेंट पुलिस को दर्ज करानी पड़ती है।

- मिथिलेश कुमार सिंह

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

फेसबुक