शाह ने केजरीवाल पर साधा निशाना, बोले- ओछी और नीची राजनीति करने वाला CM आज तक नहीं देखा Featured

अमित शाह ने केजरीवाल पर दिल्ली की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्लीवासियों, 8 तारीख को ये सरकार बदल दो, मैं आपसे कह कर जाता हूं कि जहां झुग्गी है, वहीं मकान देने का काम मोदी सरकार करने वाली है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में सत्ता की जंग तेज होती जा रही है। बीजेपी की और से चुनाव प्रचार की कमान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संभाल ली है तो आम आदमी पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मोर्चा संभाले हुए हैं। इसी क्रम में आज दिल्ली के रिठाला विधानसभा सीट पर जनसभा को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। शाह ने कहा कि केजरीवाल जी ने चुनाव से पहले कहा था कि सत्ता में आए तो सरकारी बंगला, सरकारी गाड़ी नहीं लेंगे, लेकिन शपथ लेने के बाद सरकारी गाड़ी, सरकारी बंगला लिया। 2015 में मोदी जी ने एक पत्र लिखा और उसमें कहा कि दिल्ली की 1,731 अनधिकृत कॉलोनियों को आप मुझे दे दो मैं उन्हें अधिकृत बनाऊंगा। इन्होंने कहा कि अभी नक़्शे बन रहे हैं 2 साल लगेंगे, फिर 2017 में मोदी जी ने पत्र लिखा तब भी केजरीवाल सरकार ने कहा कि अभी 2 साल और लगेंगे।

शाह ने केजरीवाल पर दिल्ली की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्लीवासियों, 8 तारीख को ये सरकार बदल दो, मैं आपसे कह कर जाता हूं कि जहां झुग्गी है, वहीं मकान देने का काम मोदी सरकार करने वाली है। मैं केजरीवाल से पूछना चाहता हूं कि दिल्ली के गरीबों का क्या दोष था कि आपने जो 5 लाख रुपये की सहायता मोदी जी उनको देना चाहते थे, उसे उनसे छीन लिया। उनके मन में भय था कि अगर किसी गरीब का फ्री ऑपरेशन हो जायेगा, तो दिल्ली का गरीब नरेन्द्र मोदी जी के साथ जुड़ जायेगा। राजनीति करने वाले तो बहुत देखे हैं, मगर इतनी ओछी और नीची राजनीति करने वाला मुख्यमंत्री मैंने अपने जीवन में नहीं देखा। दिल्ली के करोड़ों गरीबों को 5 लाख की योजना से उन्होंने अलग-थलग कर दिया। देश का एक-एक बच्चा चाहता था कि जहां प्रभु श्रीराम जी का जन्म हुआ था वहीं भव्य मंदिर बने। जब-जब कोर्ट में केस आता था तब-तब राहुल बाबा, केजरीवाल एंड कंपनी इसका विरोध करते थे।

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

फेसबुक