बैठक टलने से प्रधानमंत्री ओली की किस्मत का फैसला कल

काठमांडू । नेपाल में जारी राजनीतिक घमासान में दो दिन की राहत मिल गई है। प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के इस्तीफे को लेकर मामला स्टेंडिंग कमेटी की बैठक टलने से दो दिन के लिए टल गया है। इस बीच, विभिन्न दलों की बैठकों का दौर जारी रहा।
पार्टी के कई सीनियर लीडर चाहते हैं कि इस मसले का हल आपसी सहमति से निकाला जाए। इस बीच, खबर है कि नेपाल के प्रधानमंत्री ओली राष्ट्रपति विद्यादेवी भंडारी से मिलने शीतल निवास पहुंचे हैं।
ओली के मुख्य विरोधी और सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के कार्यकारी अध्यक्ष पुष्प कमल दहल प्रचंड के बीच शनिवार को 3 घंटे बातचीत हुई। दोनों के बीच हुई चर्चा से ही सोमवार को होने वाले राजनीतिक फेरबदल का निचोड़ निकलेगा। सूत्रों के मुताबिक, दोनों ही नेताओं पर यह दबाव है कि वो पार्टी में किसी तरह की टूट न होने दें।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नेपाल में ओली की पार्टी दो फाड़ की कगार पर पहुंच गई है। पार्टी का दूसरा धड़ा भारत से विरोध नहीं चाहता। इस बीच, ओली ने दूसरे धड़े के बड़े नेताओं से मुलाकात की और सहयोग मांगा। बुधवार को प्रचंड की अध्यक्षता में पार्टी की स्थाई समिति की बैठक में 44 में से 33 सदस्यों ने ओली के इस्तीफे की मांग की थी। इसके बाद गुरुवार को ओली के इस्तीफे पर सहमति नहीं होने पर समिति की बैठक टाल दी गई थी। इस बीच, ऐसी भी चर्चा है कि ओली नई पार्टी बना सकते है। उन्होंने नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी-यूएमएल के नाम से पार्टी का रजिस्ट्रेशन भी कराया हुआ है। ऐसे में दो दिन की राहत के बाद सोमवार को ही नेपाल में राजनीति का बड़ा उलटफेर देखने को मिल सकता है।
 

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

फेसबुक