बिना विवाद पूरा हुआ मतदान, पुलिस की सख्ती का दिखा असर Featured

आचार संहिता लागू होने के बाद पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में चार हजार से अधिक कार्रवाई की। इससे बदमाश सहम गए। लगातार कार्रवाई का असर मतदान के दौरान देखने को मिला और इसका परिणाम यह रहा कि पहली दफा बगैर किसी विवाद और अपराध के मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया।

पुलिस के द्वारा जारी आंकड़ों की माने तो आचार संहिता के दौरान पुलिस ने पिछले चुनाव की अपेक्षा 366 गुना अधिक नगदी व सामान की जब्ती हुई है। साथ ही प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और वारंट की तामिली के आंकड़ों ने भी रिकॉर्ड भी बनाए हैं। एसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि, शांतिपूर्ण चुनाव में बदमाशों के खिलाफ सख्ती और लगातार पेट्रोलिंग के साथ ही निजात अभियान की अहम भूमिका रही।

पुलिस की सक्रियता की वजह से चुनाव के दिन एक भी वाद विवाद की एक भी शिकायत पुलिस तक नहीं पहुंची। पिछले चुनावों की अपेक्षा इस चुनाव में तीन सौ गुना अधिक नगदी रकम, चुनाव सामग्रियां व नशे के सामानों की जब्ती हुई। 3 करोड़ 66 लाख का सामान जब्त साल 2018 विधानसभा चुनाव में जहां पुलिस ने एक लाख 11 हजार 390 रुपए का माल जब्त किया था, वही साल 2023 के विधानसभा चुनाव में 3 करोड़ 66 लाख रुपए के सामान जब्त किए गए हैं। करीब एक किलो सोना और एक करोड़ 40 लाख नगद जब्त विधानसभा चुनाव 2018 में आचार संहिता के दौरान एक लाख ग्यारह हजार 390 रुपए और 30 नग साड़ी जब्त की गई थीं।

वहीं, इस चुनाव में आचार संहिता के दौरान कुल 25 मामलों में एक करोड़ 40 लाख रुपए नकद जब्त किए गए। नकद के अलावा 19 हजार 933 लीटर अवैध शराब, 76 किलो गांजा, 911 ग्राम सोना, 25.7 किलो चांदी, साड़ी व पांपलेट व अन्य चुनाव सामग्री जब्त की गई है। प्रतिबंधात्मक कार्रवाई में भी बनाया रिकार्ड बीते साल 2022 में तीन हजार 912 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। साल 2023 में 20 हजार 921 लोगों प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। आचार संहिता के दौरान ही दो हजार 818 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई।

साथ ही एक हजार 158 फरार वारंटियो की तलाश कर उन्हें गिरफ्तार किया गया। इनमें कई वारंटी ऐसे भी थे जिन्हें पुलिस ने प्रदेशों से गिरफ्तार किया। एसपी ने जिले के 31 बदमाशों के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन बनाकर कलेक्टर के पास भेजा। साथ ही रासुका की भी कार्रवाई की। मतदान के एक दिन पहले निकाली बदमाशों की परेड मतदान के एक दिन पहले ही गुरुवार की शाम गुंडा रजिस्टर में शामिल बदमाशों थाने बुलाया गया। सभी बदमाशों को कंट्रोल रूम लाकर अपराधिक गतिविधियों से दूर रहने कहा गया।

साथ ही बदमाशों की परेड निकाल कर उन्हें संदेश दिया गया कि चुनाव प्रक्रिया में यदि वे कोई भी व्यवधान उत्पन्न करते है तो उनके साथ सख्ती से निपटा जाएगा। मतदान के दौरान पेट्रोलिंग और शिकायत स्थल पर त्वरित गति से पुलिस टीम द्वारा पहुंचने पर कही भी अप्रिय स्थिति नहीं बनी।

 

Rate this item
(0 votes)
  • RO No 12822/57 "
  • RO No 12822/57 "
  • RO No 12784/60 "

Ads

RO No 12822/57 "
RO No 12822/57 "
RO No 12784/60 "

फेसबुक