निशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना से मिली राशि से श्रीलोचन कुमार वर्मा का मकान कर्ज हुआ खत्म

रायपुर :  सामाजिक पुनर्वास की दृष्टि से निशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना काफी महत्वपूर्ण है। इससे दिव्यांगजनों को ना केवल आर्थिक सहायता के रूप में राशि मिलती है, बल्कि उनकेे मनोबल में भी काफी वृद्धि होती है।

यह कहना है, रायपुर जिले के तहसील आरंग के ग्राम गुमा के निवासी श्रीलोचन कुमार वर्मा का। श्री वर्मा ने बताया कि बाएं पैर में समस्या के वजह से वह बैसाखी लेकर ही चल पाते है। वे शासकीय सेवक के रूप में सहायक ग्रेड 3 के पद पर आवास एवं पर्यावरण विभाग में पदस्थ हैं। उनकी पत्नी ने भी स्नातकोत्तर तक की पढ़ाई की हैं तथा वह प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी भी कर रही हैं। गत दिवस महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया ने उन्हें निशक्तजन विवाह प्रोत्साहन राशि पचास हजार रूपए का चेक प्रदान किया।

 वर्मा नेे बताया कि शासन द्वारा जो प्रोत्साहन राशि मिली है उसका उपयोग उन्होंने मंदिर हसौद में घर बनाने के समय जो कर्ज लिए थे, उन्हें चुकाने के लिए उपयोग किया है। इससे उन्हें मानसिक शांति मिली। वे एक संयुक्त परिवार में रहते हैं माता-पिता, भैया भाभी भी साथ में रहते हैं। उनके पिता और भैया दोनों मिस्त्री का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाना चाहिए जिससे ज्यादा से ज्यादा निशक्तजन इसका लाभ ले सके। विवाह के तुरंत बाद समाज कल्याण विभाग में जाकर आवेदन कर देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत समाज कल्याण विभाग द्वारा निशक्तजन दंपत्तियों को प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

Rate this item
(0 votes)

फेसबुक