दुनिया

दुनिया (3532)

नई दिल्ली । भारत का आयुर्वेद अब हार्ट अटैक को भी मात देने को तैयार है। ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद में आए आयुर्वेदिक चिकित्‍सा से हार्ट अटैक के मरीज का सफल इलाज किया गया है। आर्टरी में 90 फीसदी ब्‍लॉकेज के मरीज को बिना सर्जरी सिर्फ आयुर्वेदिक औषधि और चिकित्‍सा से ठीक किया गया है। अभी तक ऐलोपैथी के भरोसे रहने वाले दिल के मरीजों के लिए यह एक बड़ी खुशखबरी है कि अब वे आयुष की इस पारंपरिक चिकित्‍सा पद्धति से भी इलाज करा सकते हैं।
एआईआईए की ओर से बताया गया कि 50 वर्षीय अवधेश कुमार दिल्‍ली के जैतपुर निवासी हैं और आटो ड्राइवर हैं। नवंबर 2022 में इन्‍हें हार्ट अटैक पड़ा और एंजियोग्राफी में देखा गया कि इनकी आर्टरी में 90 फीसदी ब्लॉकेज थी। लेकिन कुमार अक्‍टूबर 2023 में ये दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान में इलाज के लिए पहुंचे।
आयुर्वेद संस्थान में अवधेश को 15 दिन के भर्ती किया गया और पंचकर्म सहित आयुर्वेदिक चिकित्‍सा पद्धति से इलाज किया गया। इसके बाद 3 महीने तक घर पर रहकर आयुर्वेदिक औषधियां खाने के लिए दी गईं। अब जब एक बार फिर एंजियोग्राफी की गई तब उसमें 0-5 फीसदी ब्‍लॉकेज सामने आई।
इस बारे में मरीज अवधेश ने बताया कि हार्ट अटैक आने पर 3 महीने इलाज के बाद उन्‍हें स्‍टेंट डलवाने के लिए कहा गया था लेकिन उनके पस पैसे नहीं थे। इसलिए वे कुछ दिन चुप रहे और फिर एक दिन पूरी तरह निशुल्‍क अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान में इलाज के लिए आए। यहां 15 दिन एडमिशन और 3 महीने इलाज के बाद वे पूरी तरह स्‍वस्‍थ हैं और एंजियोग्राम की रिपोर्ट्स भी सामान्‍य आई हैं।
अपनी निगरानी में अवधेश का इलाज करने वाली असिस्‍टेंट प्रोफसर वैद्य दिव्‍या कजारिया कहती हैं कि ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद हार्ट अटैक के मरीजों पर आयुर्वेद और ऐलोपैथी के इलाज को लेकर स्‍टडी कर रहा है। इसमें हार्ट अटैक पर आयुर्वेद का असर देखा जा रहा है। अवधेश का रिजल्‍ट काफी सकारात्मक रहा। इतना ही नहीं हार्ट अटैक के एक मरीज को 100 फीसदी ब्‍लॉकेज में भी आयुर्वेदिक उपचार से फायदा हुआ है, उसकी रिपोर्ट्स भी जल्‍द साझा की जाएगी। वैद्य कजारिया कहती हैं कि आयुर्वेद से इलाज काफी पहले से मिल रहा है लेकिन अब उसके साक्ष्‍य भी मिलने लगे हैं। चूंकि एआईआईए में हार्ट अटैक के मरीजों में बीमारी और इलाज का आकलन एंजियोग्राफी जैसी जांच से हो रहा है, तब मजबूत साक्ष्‍य आयुर्वेद के पास है और इस झुठलाना संभव नहीं होगा।

 

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपीपीएससी) ने राज्य सेवा मुख्य परीक्षा 2022 का एडमिट कार्ड जारी कर दिया है। प्रवेश पत्र आधिकारिक वेबसाइट mppsc.mp.gov.in पर रिलीज किए गए हैं। अब इस परीक्षा के लिए, जिन उम्मीदवारों ने प्रीलिम्स क्लियर कर लिया है, वे ऑफिशियल पोर्टल पर जाकर इसे चेक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

एमपीपीएससी राज्य सेवा मुख्य परीक्षा 2023 का आयोजन 8 से 13 जनवरी 2024 तक किया जाएगा। हालांकि, इसके पहले यह परीक्षा 26 से 31 दिसंबर तक आयोजित होने वाली थी। हालांकि, अब यह एग्जाम आगामी आठ जनवरी से आयोजित किया जाएगा।

MP SSE Prelims Result 2022: 12 जुलाई को जारी हुआ था प्रीलिम्स परीक्षा

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग, एमपीपीएससी एसएसई प्रारंभिक परीक्षा परिणाम 2022 की घोषणा 12 जुलाई, 2023 को की गई थी। इस परीक्षा में चयनित किए गए उम्मीदवारों को एमपी एसएसई मुख्य परीक्षा 2023 में शामिल होने का मौका दिया जा रहा है। उम्मीदवारों की सहूलियत के लिए नीचे आसान स्टेप्स दिए गए हैं, जिनको फॉलो करके अभ्यर्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।

MP SSE Prelims Result 2022: एमपी राज्य सेवा मुख्य परीक्षा

सबसे पहले उम्मीदवारों को मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की आधिकारिक वेबसाइट mppsc.mp.gov.in पर जाना होगा। इसके बाद, होमपेज पर एसएसई मेंस 2022 एडमिट कार्ड लिंक पर क्लिक करें। अब आपको एक नए पेज पर पुनः निर्देशित किया जाएगा। यहां अपना लॉगिन क्रेडेंशियल दर्ज करें और विवरण जमा करें। इसके बाद, आपका मेंस एडमिट कार्ड स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा। अब भविष्य के संदर्भ के लिए इसे डाउनलोड करें और प्रिंटआउट लेकर रख लें।

बता दें कि हाल ही में मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपीपीएससी) ने राज्य सेवा परीक्षा 2019 के फाइनल परिणाम (MPPSC Result 2019) जारी किए थे। इस परीक्षा में सतना की प्रिया पाठक ने पहला स्थान प्राप्त किया था।

 

जालंधर । सीमा पार से तस्करी के प्रयास को विफल करते हुए सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने अमृतसर जिले के दाओके गांव से हेरोइन सहित एक पाकिस्तानी ड्रोन बरामद किया है। इस मामले में बीएसएफ के प्रवक्ता ने रविवार को जानकारी दी कि शनिवार की देर शाम को ड्रोन की उपस्थिति के संबंध में विशेष सूचना पर पंजाब पुलिस के साथ गांव के बाहरी इलाके में एक संयुक्त तलाशी अभियान शुरू किया गया था। तलाशी अभियान के दौरान एक खेत से एक ड्रोन / क्वाडकॉप्टर के साथ-साथ प्रतिबंधित हेरोइन ‎जिसका सकल वजन - लगभग 520 ग्राम था, से भरा एक प्लास्टिक कंटेनर बरामद किया गया है। बीएसएफ द्वारा बरामद ड्रोन एक क्वाडकॉप्टर मॉडल - डीजेआई माविक 3 क्लासिक, चीन में बनाया गया है।

इंफाल। मणिपुर में हमलावरों की फायरिंग में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना पूर्वी इंफाल में कांगपोकपी जिले के सबुंगखोक खुनोउ की है। यहां हथियार से लैस उपद्रवियों ने ग्रामीणों पर हमला कर दिया। अधिकारियों ने बताया कि घटना सुबह करीब 3 बजे की है। हमलावरों ने मैदान में रखे ईंटों के पीछे छिपकर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। घायलों को इंफाल के राज मेडिसिटी और लिटिल क्लिनिक ले जाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।
इस घटना के बाद हमलावरों ने गांव के सुरक्षा वालंटियर्स पर फायरिंग की। सुरक्षाबलों ने उपद्रवियों का पीछा किया। वे गांव की ओर बढ़ रहे थे। इसी दौरान दोपहर में हमलावरों ने सुरक्षाबलों पर भी गोलियां चलाईं। हालांकि, इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की, लेकिन हमलावर अपनी गाड़ी छोडक़र फरार हो गए। पुलिस ने गाड़ी से हथियार और गोला-बारूद बरामद किए हैं।
मणिपुर में 3 मई से मैतेई और कुकी लोगों के बीच जारी हिंसा में अब तक 180 लोगों की जान गई है, जबकि 50 हजार से ज्यादा लोग अपना घर छोडक़र रिलीफ कैंपों में रह रहे हैं। इंफाल वैली में मैतेई बहुल है, ऐसे में यहां रहने वाले कुकी लोग आसपास के पहाड़ी इलाकों में बने कैंप में रह रहे हैं, जहां उनके समुदाय के लोग बहुसंख्यक हैं। जबकि, पहाड़ी इलाकों के मैतेई लोग अपना घर छोडक़र इंफाल वैली में बनाए गए कैंपों में रह रहे हैं।

नई दिल्ली । भारतीय सेना की ताकत बढ़ाने के ‎लिए रक्षा मंत्रालय ने ‘प्रलय’ बैलिस्टिक मिसाइलों की खरीदी को मंजूरी दे दी है। रक्षा मंत्रालय ने एक रेजिमेंट के अधिग्रहण के लिए यह मंजूरी दी है। इन्हें नियंत्रण रेखा पर तैनात किया जाएगा। रक्षा अधिकारियों ने बताया कि सेना की सैन्य क्षमताओं में अधिक मारक क्षमता जोड़ने का निर्णय रक्षा अधिग्रहण परिषद की हालिया बैठक के दौरान लिया गया था। यह सेना के लिए एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। प्रलय सेना की सूची में सबसे लंबी दूरी की सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल होगी। प्रलय ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के साथ मिलकर भारत की रॉकेट फोर्स का आधार बनेगा। चीन और पाकिस्तान दोनों ने पहले ही सामरिक उद्देश्यों के लिए बैलिस्टिक मिसाइलों को तैनात किया है।
हालां‎कि रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित सैन्य आवश्यकताओं के अनुसार रेंज में और वृद्धि के लिए तैयार हैं। यह खरीद इन मिसाइलों के अधिग्रहण के लिए भारतीय वायु सेना को दी गई इसी तरह की मंजूरी के बाद की गई है। प्रलय की खासियतों की बात करें तो ‘प्रलय’ बैलिस्टिक मिसाइलों की मारक क्षमता 150 से 500 किलोमीटर तक है। यह लगभग 350 किलोग्राम से 700 किलोग्राम तक के घातक हथियार ले जाने में सक्षम है।यह एक उच्च विस्फोटक पूर्वनिर्मित विखंडन वारहेड, पेनेट्रेशन-कम-ब्लास्ट (पीसीबी) और भगोड़ा इनकार प्रवेश सबम्यूनिशन (आरडीपीएस) भी ले जा सकता है।
प्रलय’ को अर्ध-बैलिस्टिक सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल के रूप में वर्गीकृत किया गया है, जिसमें इंटरसेप्टर मिसाइलों को विफल करने के लिए डिज़ाइन की गई उन्नत क्षमताएं हैं। यह एक निश्चित दूरी तय करने के बाद उड़ान के बीच में अपने प्रक्षेप पथ को बदलने की क्षमता प्रदर्शित करता है। मिसाइल एक ठोस प्रणोदक रॉकेट मोटर द्वारा संचालित होती है और इसकी मार्गदर्शन प्रणाली में अत्याधुनिक नेविगेशन और एकीकृत एवियोनिक्स सहित अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों को शामिल किया गया है। इसकी तुलना चीन की डोंग फेर 12 और रूसी इस्कंदर मिसाइल से की जा सकती है जिसका इस्तेमाल यूक्रेन के साथ चल रहे युद्ध में किया गया है।

 

जॉर्जिया। अमेरिका के फुल्टन काउंटी जेल में एक सामूहिक चाकूबाजी की घटना को अंजाम दिया गया। रिपोर्ट के अनुसार, हादसे में एक बंदी की मौत हो गई और चार अन्य कैदी घायल हुए है। फुल्टन काउंटी शेरिफ कार्यालय के प्रवक्ता नताली अम्मोन्स के हवाले से बताया कि स्थिति को नियंत्रण कर मामले की जांच चल रही है।
विभाग ने कहा कि घटना में 23 वर्षीय डेवियन ब्लास्के की मौत हो गई है और तीन अन्य कैदियों को अस्पताल ले जाया गया है। सभी को चाकू से घायल किया गया और अन्य व्यक्ति का इलाज जेल मेडिकल स्टाफ द्वारा किया गया। शेरिफ कार्यालय ने कहा कि अटलांटा पुलिस इस घटना में शामिल कैदियों के नाम और आपराधिक आरोप जारी करेगी। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि हथियारों को लेकर हुए एक विवाद में कैदियों को चोटें आई। शेरिफ ने कहा कि जेल में हाल ही में भड़की हिंसा एक गंभीर चिंता का विषय है। उन्होंने बताया कि अस्थायी हथियारों का इस्तेमाल कैदी एक-दूसरे और कर्मचारियों पर हमला करने के लिए करते हैं। जुलाई के अंत से फुल्टन काउंटी जेल के कैदी की यह पांचवीं मौत है।
इसके पहले 40 वर्षीय मोंटे स्टिन्सन को 31 जुलाई की रात को अपने सेल में बेहोश पाया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, 10 अगस्त की शाम को एक हिरासत अधिकारी ने 34 वर्षीय क्रिस्टोफर स्मिथ को संदिग्ध हालत में पाया , जिसके बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, कुछ ही समय बाद उसकी मौत हो गई।

इस्लामाबाद । पाकिस्तान में पिछले एक महीने में आतंकी घटनाओं ने पिछले 9 साल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। पाकिस्तान इंस्टीट्यूट फॉर कॉन्फ्लिक्ट एंड सिक्योरिटी की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में अगस्त महीने में आतंकवादी हमलों में 83 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है। पाकिस्तान में 99 आतंकवादी घटनाएं अगस्त माह में दर्ज की गई हैं। 2014 के बाद से यह किसी एक महीने में दर्ज की गई सबसे बड़ी संख्या है।
इसके अलावा कई इलाके ऐसे भी हैं, जहां की घटनाएं रिकॉर्ड में दर्ज नहीं हुई है। रिपोर्ट में चार आत्मघाती हमलों का उल्लेख है। जिनमें से तीन खैबर पख्तूनख्वा (केपी) के आदिवासी जिलों में और एक मुख्य खैबर पख्तूनख्वा में हुआ है।
खैबर पख्तूनख्वा पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का गृह राज्य है। इस राज्य में सरकार से ज्यादा तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का बोलबाला है। टीटीपी के आतंकवादी हर दिन पाकिस्तानी सेना और पुलिस पर हमले करते हैं।

कीव। रूस से चल रही जंग के बीच यूक्रेन की कोर्ट ने वहां के एक अरबपति की गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं। इहोर कोलोमोइस्की नाम के इस अरबपति पर फ्रॉड के आरोप लगे हैं। उसे 31 अक्टूबर तक हिरासत में रखा जाएगा। कोलोमोइस्की को यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की का समर्थक माना जाता है। कोर्ट ने माना है कि 2013 से 2020 के बीच कोलोमोइस्की ने गैरकानूनी तरीकों से कमाए करोड़ों रुपयों को बाहरी देशों में अपने कंट्रोल वाले बैंकों के जरिए कानूनी करवा लिया। रिपोट्र्स के मुताबिक कोर्ट ने कोलोमोइस्की को 115 करोड़ रुपए देकर बेल लेने का भी ऑप्शन दिया है। हालांकि, बेल मिलने की स्थिति में कोलोमोइस्की को वो जगह छोडक़र जाने की इजाजत नहीं होगी जहां वो रह रहा है। उसे पासपोर्ट भी सरेंडर करना होगा साथ ही पूछताछ में भी शामिल होना होगा।

वाशिंगटन। अमेरिका के नेवाडा राज्य में बर्निंग मैन फेस्टिवल के लिए इक_ा हुए 70 हजार लोग कीचड़ में फंस गए हैं। सरकारी अधिकारियों ने उन्हें खाना और पानी बचाने को कहा है। दरअसल, अमेरिका के नेवाडा राज्य में हर साल हजारों लोग एक कल्चरल फेस्टिवल मनाने के लिए इक_ा होते हैं। इस बार भी ऐसा हुआ। हालांकि, लगातार 24 घंटों तक बारिश की वजह से पूरा रेगिस्तानी इलाका कीचड़ में तब्दील हो गया। इससे लोग चल भी नहीं पा रहे हैं। अमेरिका के लैंड मैनेजमेंट ब्यूरो ने कहा कि कीचड़ के बीच गाड़ी चलाना खतरे से खाली नहीं। आगे के कुछ दिनों में और भी बारिश होने की संभावना है। ऐसे में लोगों के पास जरूरत का सारा सामान होना जरूरी है।

नई दिल्ली । दुनिया भर की दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियां अपने स्टाफ में लगातार कमी करती जा रही हैं।नवंबर के बाद से फेसबुक ने 21000 नौकरियां कम कर दी हैं। गूगल की कंपनी अल्फाबेट ने 21000 नौकरी कम की है।अमेज़न और माइक्रोसॉफ्ट में भी कर्मचारियों की संख्या लगातार घटाई जा रही है। केवल अक्टूबर माह में ही 50000 लोगों को नौकरी से निकाला गया है। 2023 में 2,20,000 नौकरियों में कटौती करने की घोषणा सारी दुनिया में स्थापित 900 कंपनियों ने की है।
आर्थिक स्थिति में आई गिरावट का सबसे ज्यादा असर टेक्नोलॉजी कंपनियों पर पड़ रहा है।बढ़ी हुई ब्याज दरें को सबसे बड़ा कारण बताया जा रहा है। सारी दुनिया में इस साल के पहले 6 महीनों में वेंचर कैपिटल इन्वेस्टमेंट 11. 83 लाख करोड का रहा है। जबकि पिछले वर्ष इसी समान अवधि में 24 लाख करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट था। फिनटेक कंपनी स्ट्राइप का मूल्य मार्च में फंडिंग के समय 7.81 लाख करोड़ रुपए से घटकर 4.11 लाख करोड़ रुपए पर आ गया है।
नई कंपनियों में कर्मचारियों की संख्या बहुत कम है। स्टार्टअप कंपनियों की भी लगभग यही स्थिति है। फंडिंग कम होने के कारण अल्फाबेट और मेटा के रास्ते पर कंपनियां चलकर, अपने खर्च को घटा रही हैं। नौकरियों की संख्या लगातार कंपनियों में घटाई जा रही है। पिछले वर्ष के मुकाबले लगभग 40 फ़ीसदी नौकरियां कम हुई है। जिसके कारण सारी दुनिया के देशों में बेरोजगारी तेजी के साथ बढ़ रही है। आर्थिक मंदी के संकट से सारी दुनिया के देशों को जूझना पड़ रहा है।

 

Page 1 of 253
  • span>- RO No 12737/60 - "
  • RO NO 12710/60 "
  • RO No 12710/60 "
  • - RO No 12737/60 - "

Ads

span>- RO No 12737/60 - "
RO NO 12710/60 "
RO No 12710/60 "
- RO No 12737/60 - "

फेसबुक