स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स (4135)

ऑस्‍ट्रेलिया के कैमरन ग्रीन और जोश हेजलवुड ने शुक्रवार को न्‍यूजीलैंड के खिलाफ इतिहास रच दिया। ग्रीन-हेजलवुड ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ टेस्‍ट क्रिकेट में 10वें विकेट के लिए ऑस्‍ट्रेलिया की तरफ से सबसे बड़ी साझेदारी की। ग्रीन-हेजलवुड की जोड़ी ने वेलिंगटन टेस्‍ट के दूसरे दिन 10वें विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी की।

इस जोड़ी ने 2004 में ब्रिस्‍बेन में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ 10वें विकेट के लिए जेसन गिलेस्‍पी और ग्‍लेन मैक्‍ग्रा द्वारा की गई 114 रन की साझेदारी के रिकॉर्ड को तोड़ा। बता दें कि ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट इतिहास में ग्रीन-हेजलवुड ने 10वें विकेट के लिए चौथी सबसे बड़ी साझेदारी की।

एगर-ह्यूज के नाम दर्ज है रिकॉर्ड

ऑस्‍ट्रेलिया के लिए 10वें विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड एश्‍टन एगर और फिल ह्यूज के नाम दर्ज है, जिन्‍होंने 2013 में नॉटिंघम में इंग्‍लैंड के खिलाफ 163 रन की साझेदारी की थी। आर्थर अल्‍फ्रेड मैली और जॉन मॉरिस टेलर की जोड़ी इस लिस्‍ट में दूसरे स्‍थान पर काबिज है, जिन्‍होंने 1924 में सिडनी में इंग्‍लैंड के खिलाफ 127 रन की साझेदारी की थी।

वारविक विंडरीज आर्मस्‍ट्रांग और रेगीनाल्‍ड एलेक्‍सेंडर डफ की जोड़ी इस लिस्‍ट में तीसरे स्‍थान पर है, जिसने 1902 में इंग्‍लैंड के खिलाफ 10वें विकेट के लिए 120 रन की साझेदारी की थी। ग्रीन-हेजलवुड की जोड़ी चौथे स्‍थान पर काबिज हो गई है।

ग्रीन ने खेली अद्भुत पारी

बहरहाल, कैमरन ग्रीन और जोश हेजलवुड के बीच साझेदारी का बड़ा श्रेय टॉप ऑर्डर के बल्‍लेबाज को जाता है। चौथे नंबर पर उतरकर ग्रीन ने न सिर्फ यादगार पारी खेली बल्कि टीम को सुखद स्थिति में भी पहुंचाया। ग्रीन ने 275 गेंदों में 23 चौके और पांच छक्‍के की मदद से नाबाद 174 रन बनाए। वहीं जोश हेजलवुड ने 62 गेंदों में चार चौके की मदद से 22 रन बनाए। मैट हेनरी ने हेजलवुड को रवींद्र के हाथों कैच आउट कराकर इस साझेदारी को तोड़ा।

न्‍यूजीलैंड के खस्‍ता हाल

बता दें कि कैमरन ग्रीन और जोश हेजलवुड की शानदार पारी की बदौलत ऑस्‍ट्रेलिया की पहली पारी 115.1 ओवर में 383 रन पर ऑलआउट हुई। इसके जवाब में न्‍यूजीलैंड की पहली पारी महज 43.1 ओवर में 179 रन पर ढेर हुई। इस तरह ऑस्‍ट्रेलिया को पहली पारी के आधार पर 204 रन की बढ़त मिली।

युवा भारतीय विकेटकीपर बल्‍लेबाज ध्रूव जुरैल ने इंग्‍लैंड के खिलाफ रांची टेस्‍ट में अपनी ऑलराउंड शैली से काफी प्रभावित किया। ध्रूव जुरैल ने पहली पारी में पुछल्‍ले बल्‍लेबाजों के साथ मिलकर टीम की नैया पार लगाई और फिर दूसरी पारी में शुभमन गिल के साथ भारत को जीत दिलाकर दम लिया।

ध्रूव जुरैल को दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन के लिए रांची में प्‍लेयर ऑफ द मैच चुना गया। बता दें कि जुरैल ने चौथे टेस्‍ट की पहली और दूसरी पारी में क्रमश: 90 व 39* रन बनाए। पूर्व कप्‍तान सुनील गावस्‍कर ने ध्रूव जुरैल की तारीफ करते हुए कहा कि उनमें अगला एमएस धोनी बनने की क्षमता है। यह तुलना तब शुरू हुई जब राजकोट टेस्‍ट में जुरैल ने बेन डकेट को दूसरी पारी में शानदार अंदाज में रन आउट किया था।

सुनील गावस्‍कर ने जियो सिनेमा से बातचीत में कहा, ''ध्रूव जुरैल ने स्थिति के मुताबिक जिस तरह अपने दिमाग का उपयोग किया, उससे मुझे लगा कि वो अगले एमएमस धोनी बन सकते हैं।'' अब अनिल कुंबले भी जुरैल की तारीफों के पुल बांधते हुए नजर आए। पूर्व भारतीय कप्‍तान अनिल कुंबले ने कहा कि जुरैल में प्रतिभा है कि वो एमएस धोनी जैसा बड़ा कमाल कर सकते हैं।

भारतीय टीम ने सोमवार को इंग्‍लैंड को पांच मैचों की सीरीज के चौथे टेस्‍ट में 5 विकेट से पटखनी दी। भारतीय टीम ने लगातार तीसरे टेस्‍ट में इंग्‍लैंड को हराया और सीरीज अपने कब्‍जे में की। भारत ने मौजूदा सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त बना रखी है।

भारत और इंग्‍लैंड के बीच सीरीज का पांचवां और अंतिम टेस्‍ट मैच 7 मार्च से धर्मशाला में खेला जाएगा। बहरहाल, चौथा टेस्‍ट जीतने के बाद रोहित शर्मा ने अपने हेड कोच और पूर्व कप्‍तान राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया है। रोहित शर्मा भारत के संयुक्‍त रूप से पांचवें सबसे सफल टेस्‍ट कप्‍तान बन गए हैं। राहुल द्रविड़ ने 25 टेस्‍ट में भारत की कप्‍तानी और 8 बार जीत दिलाई। रोहित शर्मा ने 15 टेस्‍ट में भारत की कप्‍तानी करके 9वीं जीत दिलाई।

भारतीय टीम के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने आईपीएल 2024 से पहले अपनी इंजरी पर एक बड़ा अपडेट दिया है। सोशल मीडिया पर सूर्या ने एक वीडियो शेयर की है, जिसमें वह मैदान पर वापसी के लिए कड़ी मेहनत करते हुए नजर आ रहे हैं।

दिसंबर 2023 में सूर्यकुमार को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टखने पर चोट लगी थी, जिसके बाद उन्होंने हर्निया की सर्जरी भी कराई। वह इसके बाद से मैदान से बाहर चल रहे हैं। इस बीच उन्होंने जो वीडियो अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की है, वह फैंस को खूब पसंद आ रही हैं।

सूर्यकुमार यादव ने अपनी इंजरी पर दिया बड़ा अपडेट

दरअसल, सूर्यकुमार यादव ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर की, जिसमें उन्होंने कैप्शन में लिखा कि रिकवरी प्रोसेस ऑन प्वाइंट। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि सूर्या सर्जरी के बाद ठीक से चल तक नहीं पा रहे, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और लगातार कोशिश करते हुए धीरे-धीरे अपनी स्पीड पकड़ी। एनसीए में उन्होंने तगड़ी ट्रेनिंग करते हुए सुर्खियां बटोर ली हैं। सूर्या आईपीएल 2024 में खेलने के लिए जमकर पसीना बहा रहे हैं।

बता दें कि सूर्या की हर्निया की सर्जरी 17 जनवरी को जर्मनी में हुई। यह दूसरी बार रहा, जब सूर्यकुमार यादव को एंकल इंजरी से जूझना पड़ा। भारत बनाम साउथ अफ्रीका की टी20 सीरीज में उन्हें चोट लगी थी। इसके बाद उन्होंने अपनी सर्जरी कराई, जिसके बाद उन्होंने एक ट्वीट कर कहा था कि मैं सभी को धन्यवाद कहता हूं, जिन्होंने मेरी अच्छी हेल्थ की कामना की और मैं यह बताते हुए खुश हूं कि मैं जल्द ही वापसी करूंगा।

 

जर्मनी के फुटबॉल क्लब बायर लेवरकुसेन ने इतिहास रच दिया है। उसने बुंदेसलिगा में शुक्रवार को मेन्ज के खिलाफ 2-1 से जीत हासिल की। उसने इस सीजन में सभी क्लब टूर्नामेंट में लगातार 33 मैच में नहीं हारने का रिकॉर्ड बनाया। लेवरकुसेन के कोच स्पेन के पूर्व खिलाड़ी जावी अलोंसो हैं। उनकी कोचिंग में टीम ने बार्यन म्यूनिख का रिकॉर्ड तोड़ दिया। लेवरकुसेन की टीम बार बुंदेसलिगा जीतने के करीब भी पहुंच गई है।लेवरकुसेन के लिए मेन्ज के खिलाफ पहला गोल इंग्लैंड के क्लब आर्सेनल से आए स्विट्जरलैंड के ग्रानिट जाका ने किया। उन्होंने तीसरे मिनट में ही गोल दाग दिया। जाका के गोल के चार मिनट बाद मेन्ज ने बराबरी का गोल कर दिया। उसके लिए डोमिनिक कोर ने सातवें मिनट में स्कोर किया। हाफटाइम तक मैच 1-1 की बराबरी पर रहा। उसके बाद दूसरे हाफ में लेवरकुसेन ने बढ़त बना ली। उसके लिए रॉबर्ट एंड्रिच ने 68वें मिनट में गोल किया। इसके बाद मुकाबले में कोई गोल नहीं हुआ और लेवरकुसेन ने मैच को जीत लिया।लेवरकुसेन ने बुंदेसलिगा के अलावा अन्य टूर्नामेंट को मिलाकर इस सीजन में कुल 33 मैच खेले हैं। इस दौरान उसने 29 मैच जीते हैं और चार ड्रॉ रहे हैं। इससे पहले बायर्न म्यूनिख की टीम 2019 से 2020 के बीच लगातार 32 मैच में नहीं हारी थी। इसमें चैंपियंस लीग में जीत भी शामिल है। लेवरकुसेन ने इस सीजन में बुंदेसलिगा के अलावा डीएफबी पोकल और यूरोपा लीग टूर्नामेंट में हिस्सा लिया है।

भारतीय महिला हॉकी टीम की मुख्य कोच यानेक शॉपमैन ने राष्ट्रीय महासंघ द्वारा सम्मान और अहमियत नहीं दिए जाने का दावा करके हंगामा करने के कुछ दिन बाद शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। डच कोच ने 2021 में सोर्ड मरीन की जगह ली थी, जिन्होंने टीम को टोक्यो ओलंपिक में ऐतिहासिक चौथे स्थान पर पहुंचाया था।शॉपमैन का अनुबंध इस साल पेरिस ओलंपिक के बाद अगस्त में समाप्त होना था, लेकिन उनकी हालिया आलोचनात्मक टिप्पणियों के बाद उम्मीद की जा रही थी कि वह इस पद पर जारी नहीं रहेंगी। हॉकी इंडिया (एचआई) ने बताया कि 46 वर्षीय कोच ने ओडिशा में एफआईएच हॉकी प्रो लीग के घरेलू चरण में टीम का अभियान खत्म होने के बाद हॉकी इंडिया के अध्यक्ष दिलीप टिर्की को अपना इस्तीफा सौंप दिया।हॉकी इंडिया ने इस मामले पर प्रेस रिलीज जारी कर कहा, 'हाल ही में ओलंपिक क्वालिफायर में निराशा के बाद उनके इस्तीफे ने हॉकी इंडिया के लिए महिला हॉकी टीम के लिए एक उपयुक्त मुख्य कोच की तलाश का मार्ग प्रशस्त कर दिया है जो 2026 में अगले महिला विश्व कप और 2028 लॉस एंजिल्स ओलंपिक के लिए भारतीय टीम को तैयार कर सके।'

 

बेटियों ने एशियाई साइक्लिंग चैंपियनशिप में भारत को स्वर्णिम शुरुआत दिलाई। आईजी स्टेडियम वेलड्रोम में बुधवार को जूनियर वर्ग में सरिता कुमारी, निया सेबेस्टियन, जायना मोहम्मद अली पीरखान और सबीना ने स्प्रिंट इवेंट में मजबूत कोरिया को हराकर चैंपियनशिप में देश का पहला स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने चैंपियनशिप के पहले दिन एक स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य पदक जीता। भारत ने एक रजत पैरा टीम स्प्रिंट इवेंट में, दूसरा रजत पुरुषों की जूनियर टीम स्प्रिंट इवेंट में जीता, जबकि कांस्य पदक लड़कियों की जूनियर टीम परस्यूट इवेंट में मिला।

अंतिम रेस में कोच ने बदला रायडर

स्प्रिंट टीम के कोच राहुल के मुुताबिक उन्होंने रणनीति के तहत तीसरी और अंतिम रेस में सबीना की जगह पर जायना को उतारा, जिसका फायदा मिला। जायना थकी हुई नहीं थीं, जिसके चलते भारत ने 53.383 सेकंड का समय निकाला, जो कोरियाई रायडरों से बेहतर था। राहुल के मुताबिक उन्होंने पहली दो रेस में सरिता, निया और सबीना को उतारा था। तीसरी रेस में कोरिया रायडर के फाल्स स्टार्ट का भी भारतीय टीम को फायदा मिला। केरल की निया ने कहा कि एशिया की सबसे मजबूत टीम को हराना किसी सपने के सच होने जैसा है।

18 देश शिरकत कर रहे हैं

सीनियर और जूनियर वर्ग में हो रही पेरिस ओलंपिक क्वालिफाइंग इस चैंपियनशिप में 18 देश शिरकत कर रहे हैं। पैरा टीम स्प्रिंट में अरशद शेख, जलालुद्दीन अंसारी, बासवाराज की टीम को फाइनल में मलयेशिया से हार का सामना करना पड़ा। जूनियर वर्ग की पुरुष टीम स्प्रिंट में नारायण महतो, सैयद खालिद बागी, एम वताबा मितेई की तिकड़ी ने 47.93 सेकंड का समय लिया, लेकिन कोरियाई टीम ने उनसे बेहतर समय निकालकर स्वर्ण जीता। जूनियर परस्यूट में हर्षिता जाखड़, सुहानी कुमारी, जेपी धन्याधा, भूमिका ने ताइवान को हराकर कांस्य जीता। द. कोरिया ने स्वर्ण और कजाखस्तान ने रजत जीता।

 

हांगझोऊ एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता शूटर ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में दोहरा स्वर्ण पदक अपने नाम किया। गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर के ऐश्वर्य ने पहले 10 मीटर एयर राइफल का व्यक्तिगत स्वर्ण जीता। इसके बाद उन्होंने विदित जैन और मनप्रीत सिंह बसरा के साथ मिलकर इस स्पर्धा का टीम स्वर्ण भी अपने नाम किया। जैन यूनिवर्सिटी का इन खेलों में दबदबा जारी है। सात स्वर्ण पदक के साथ यह यूनिवर्सिटी पदक तालिका में शीर्ष पर है।

जैन यूनिवर्सिटी को बास्केबाल का स्वर्ण

ऐश्वर्य 10 मीटर एयर राइफल के क्वालिफाइंग दौर में दूसरे स्थान पर रहे, लेकिन फाइनल में उन्होंने 252 का स्कोर कर एम उमामहेश को 2.1 के अंतर से हराया। 1871.7 के कुल योग के साथ जीएनडीयू ने इस स्पर्धा का टीम स्वर्ण भी जीता। ऐश्वर्य ने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हैं। उन्होंने गे्रनाडा विश्वकप में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, लेकिन यहां उन्होंने अपनी कमियों पर काम किया। जैन यूनिवर्सिटी ने महिला बास्केटबाल के फाइनल में मद्रास यूनिवर्सिटी को 68-58 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी को कबड्डी का स्वर्ण

चार स्वर्ण, छह रजत और आठ कांस्य के साथ चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी दूसरे स्थान पर है। वेटलिफ्टिंग में सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी की तृप्ति माने ने 76 भार वर्ग में 177 किलो वजन के साथ स्वर्ण जीता। इसी यूनिवर्सिटी के अभिजीत दिसाले ने 89 भार वर्ग में 302 किलो वजन उठाकर स्वर्ण जीता। जीएनडीयू के सुरिंदर पाल ने रजत जीता। महिला कबड्डी के फाइनल में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने भारती विद्यापीठ को 34-32 से हराकर स्वर्ण जीता।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल ने खेलो इंडिया शीतकालीन खेलों का उद्घाटन किया

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बुधवार को चौथे खेलो इंडिया शीतकालीन खेलों का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचे और खेलों से जुड़ी सुविधाओं के मिलने से इस केंद्र शासित प्रदेश ने खेलों के क्षेत्र में काफी प्रगति की है। सिन्हा ने केंद्र शासित प्रदेश के शहरों और गांवों में खेल संस्कृति को बढ़ावा देने की सरकार के प्रयासों की भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर में खेलों के क्षेत्र में नए युग की शुरुआत हुई है। अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे और सुविधाओं से खेल क्षेत्र को भारी प्रोत्साहन मिला है। इस अवसर पर केंद्रीय खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक भी उपस्थित थे।

 

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का चौथा मुकाबला 23 फरवरी से रांची में खेला जाएगा। इंग्लैंड ने हैदराबाद में सीरीज का पहला टेस्ट मैच जीता था। उसके बाद टीम इंडिया ने जबरदस्त वापसी की। उसने विशाखापत्तनम और राजकोट में अगले दो टेस्ट जीत लिए। अब भारत सीरीज में 2-1 से आगे है। चौथे मुकाबले के लिए दोनों टीमों की तैयारियां शुरू हो गई हैं। रोहित शर्मा की टीम के लिए अच्छी खबर सामने आई है कि अनुभवी बल्लेबाज केएल राहुल अगले मैच में खेल सकते हैं।राहुल झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में होने वाले चौथे टेस्ट में वापसी करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। राहुल क्वाड्रिसेप्स स्ट्रेन के कारण दूसरे और तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे। हैदराबाद में पहले टेस्ट में चमकने वाले इस स्टार बल्लेबाज को आखिरी तीन टेस्ट के लिए टीम में शामिल किया गया था, लेकिन पूरी तरह फिट नहीं होने के कारण वह राजकोट में नहीं खेल पाए थे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने तीसरे टेस्ट से पहले अपने बयान में कहा था कि केएल राहुल 90 प्रतिशत फिट हैं और टीम प्रबंधन को लगता है कि स्टार बल्लेबाज को क्वाड्रिसेप्स समस्या से पूरी तरह से उबरने के लिए अधिक समय की जरूरत है। भारत की 434 रनों की जीत के बाद राजकोट में कप्तान रोहित शर्मा ने भी राहुल की चोट से उबरने पर सकारात्मक अपडेट दिया था। हिटमैन ने कहा था कि उन्हें (राहुल) ठीक होना चाहिए।राहुल की अगर वापसी होती है तो रजत पाटीदार प्लेइंग-11 से बाहर हो सकते हैं। रजत को विशाखापत्तनम टेस्ट में डेब्यू करने का मौका मिला था। वह पहली पारी में 32 और दूसरी पारी में नौ रन बनाकर आउट हो गए थे। उसके बाद उन्हें रांची में फिर से मौका दिया गया। रजत एक बार फिर से फेल हो गए। वह पहली पारी में पांच रन ही बना पाए थे। दूसरी पारी में तो खाता भी नहीं खोल पाए। ऐसे में चार पारियों में एक भी अर्धशतक नहीं लगाने वाले रजत को राहुल के फिट होने पर बाहर बैठना पड़ सकता है।

मनिका बत्रा ने अपने दोनों एकल मैच जीते जिससे भारतीय महिला टीम ने रविवार को यहां विश्व टेबल टेनिस (डब्ल्यूटीटी) चैंपियनशिप में हंगरी को 3-2 से हराकर अपनी पहली जीत दर्ज की। भारतीय पुरुष टीम को हालांकि ग्रुप चरण के अपने दूसरे मैच में पोलैंड से 1-3 से हार का सामना करना पड़ा।मनिका ने इससे पहले शुक्रवार को चीन के खिलाफ भी दोहरी सफलता हासिल की थी लेकिन भारतीय टीम को वह मुकाबला 2-3 से गंवाना पड़ा था। भारत की शीर्ष महिला खिलाड़ी मनिका को शुरुआती एकल मुकाबले में डोरा मदारास के खिलाफ संघर्ष करना पड़ा लेकिन विश्व रैंकिंग में 36वें स्थान पर काबिज मनिका ने 8-11, 11-5, 12-10, 8-11, 11-4 से जीत दर्ज की। इसके बाद हंगरी की जॉर्जिना पोटा ने दूसरे एकल में श्रीजा अकुला को 11-3, 11-7, 9-11, 9-11, 11-8 से हराकर बराबरी कर ली।

शुक्रवार को दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी सन यिंगसा को हराने वाली अयहिका मुखर्जी ने बर्नाडेट बालिंट को 7-11, 11-6, 11-7, 11-8 से हराकर भारत को 2-1 से आगे कर दिया। चौथे एकल में मदारास ने श्रीजा को 11-4, 11-6, 5-11, 11-7 से हराकर मुकाबले को रोचक बना दिया। मनिका ने पोटा के खिलाफ अपना धैर्य बरकरार रखते हुए 11-5, 14-12, 13-11 से जीत हासिल की। भारत को ग्रुप के अन्य मैचों में स्पेन और उज्बेकिस्तान का सामना करना है।पुरुष वर्ग में पोलैंड के खिलाफ सिर्फ हरमीत देसाई भारतीयों में जीत दर्ज कर सके। उन्होंने दूसरे एकल में मैकी कुबिक को 12-10, 13-11, 9-11, 11-5 से हराया। शरत कमल और मानव ठक्कर अपने-अपने एकल हार गए। हरमीत चौथा एकल खेलने के लिए लौटे लेकिन जैकब डायजस के खिलाफ 7-11, 7-11, 11-8, 12-14 से पराजित हो गए।

Page 1 of 296
  • span>- RO No 12737/60 - "
  • RO NO 12710/60 "
  • RO No 12710/60 "
  • - RO No 12737/60 - "

Ads

span>- RO No 12737/60 - "
RO NO 12710/60 "
RO No 12710/60 "
- RO No 12737/60 - "

फेसबुक