दिल्ली में जीत का असर, AAP में होगी सिद्धू की एंट्री ! Featured

सूत्रों की माने तो ऐसा कहा जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। यह पहला मौका नहीं है जब सिद्धू के आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए कयास चल रहे हैं। भाजपा छोड़ने के बाद पहले सिद्धू की बातचीतस आम आदमी पार्टी से ही चल रही थी।

भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए फायर ब्रांड नेता नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। सूत्रों की माने तो नवजोत सिंह सिद्धू ने अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में वापस लौटने से इंकार कर दिया है। सिद्धू काफी वक्त से अमरिंदर सिंह से नाराज चल रहे हैं। यह नाराजगी ही थी कि अमरिंदर कैबिनेट से सिद्धू ने इस्तीफा दे दिया था। सिद्धू कई दिनों से कांग्रेस पार्टी के साथ-साथ सरकारी कार्यक्रमों में भी हिस्सा नहीं ले रहे हैं। हालांकि कांग्रेस यह बात लगातार कह रही है कि सिद्धू अभी भी पार्टी में है और आगे भी रहेंगे। लेकिन दिल्ली में आम आदमी पार्टी की जीत ने सिद्धू के भविष्य को लेकर कई संकेत देने शुरू कर दिए हैं।

सूत्रों की माने तो ऐसा कहा जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। यह पहला मौका नहीं है जब सिद्धू के आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए कयास चल रहे हैं। भाजपा छोड़ने के बाद पहले सिद्धू की बातचीतस आम आदमी पार्टी से ही चल रही थी। लेकिन बात नहीं बन पाई और सिद्धू यह कहते हुए कांग्रेस में शामिल हो गए कि यह हमारे दादा-परदादा की पार्टी है। सिद्धू राजनीति में एक बड़ा कद चाहते हैं। और पंजाब चुनाव को देखते हुए आम आदमी पार्टी को भी राज्य में एक बड़े चेहरे की जरूरत है। 2017 के चुनाव में भी कहा जा रहा था कि सिद्धू आम आदमी पार्टी का दामन थाम सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं हो सका। पार्टी में कोई बड़ा चेहरा ना होने के कारण आम आदमी पार्टी पंजाब में चुनाव जीतते जीतते रह गई।

इस कयास को बल इसलिए भी मिल रहा है क्योंकि कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल होने के बावजूद भी नवजोत सिंह सिद्धू ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ दिल्ली में कोई प्रचार नहीं किया। साथ ही साथ सिद्धू को इस बात की उम्मीद थी कि अमरिंदर के साथ उनके विवाद में आलाकमान कोई निष्कर्ष निकालेगा लेकिन ऐसा होता दिख नहीं रहा। आप के पास भले ही पंजाब में भगवंत मान का चेहरा एक विकल्प के रूप में है। लेकिन लोकसभा चुनाव में AAP का कोई खास प्रदर्शन नहीं रहा। ऐसे में आम आदमी पार्टी सिद्धू के चेहरे पर दांव खेल सकती है।

Rate this item
(0 votes)

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

फेसबुक