newscreation

newscreation

ब्रिस्बेन । ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन में अपने टेस्ट करियर की शरुआत करने वाले बाएं हाथ के पेसर टी नटराजन ने अपने नाम एक खास उपलब्धि दर्ज कर ली है। नटराजन ने सीरीज के चौथे और अंतिम टेस्ट मैच की पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के 3 विकेट अपने नाम किए। जिसकी वजह से मेजबान टीम दूसरे दिन पहली पारी में 369 रन पर ऑलआउट हो गई। तमिलनाडु के गेंदबाज नटराजन के लिए पिछले 3 महीने किसी सपने की तरह रहे हैं। 29 साल के नटराजन को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बतौर नेट बॉलर ले जाया गया था। इस दौरे पर कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बाद नटराजन को मेजबान टीम के खिलाफ क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में डेब्यू का मौका मिला। और इस गेंदबाज ने इस मौके को दोनों हाथों से लपका।
नटराजन ऑस्ट्रेलिया में तीनों फॉर्मेट टी20, ओडीआई और टेस्ट में डेब्यू करने वाले भारत के पहले क्रिकेटर बन गए हैं। ओवरऑल के मामले में नटराजन यह उपलब्धि हासिल करने वाले 17वें खिलाड़ी हैं। एक सीजन में ये कारनामा करने वाले नटराजन हमवतन भुवनेश्वर कुमार के बाद दूसरे क्रिकेटर हैं। इसके साथ ही नटराज भारत के पूर्व पेसर आरपी सिंह के विशिष्ट क्लब में शामिल हो गए हैं। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने अपने डेब्यू टेस्ट में 78 रन देकर 3 विकेट हासिल कर सबको प्रभावित किया था।
नटराजन (3/78) डेब्यू टेस्ट की एक पारी में सबसे अधिक विकेट लेने वाले भारत के दूसरे लेफ्ट आर्म पेसर बन गए हैं। इस लिस्ट में आरपी सिंह पहले नंबर पर हैं जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 2005/06 में 89 रन देकर 4 विकेट हासिल किए थे। ब्रिसबेन टेस्ट में नटराजन के अलावा भारत की ओर से वॉशिंगटन सुंदर ने भी डेब्यू किया था। सुंदर ने 89 रन देकर 3 विकेट निकाले वहीं तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने अपने दूसरे टेस्ट में 94 रन देकर 3 विकेट चटकाए। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 369 रन बनाए। फिलहाल 4 मैचों की टेस्ट सीरीज 1-1 की बराबरी पर है।

वाशिंगटन । अमेरिका की महिला टेनिस खिलाड़ी मेडिसन कीज ऑस्ट्रेलियन ओपन से पहले कोरोना से संक्रमित पाई गई हैं। महिला रैंकिंग में 16वें स्थान पर मौजूद मेडिसन ने बयान में इस बात के संकेत दिए कि वह शायद आठ फरवरी से होने वाले वर्ष के पहले ग्रैंड स्लेम ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग नहीं ले पाएंगी।
मेडिसन से पहले पूर्व नंबर एक पुरुष टेनिस खिलाड़ी ब्रिटेन के एंडी मरे भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उनका भी ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलना मुश्किल माना जा रहा है। मेडिसन ने ट्विटर पर बयान जारी कर कहा मैं बहुत दुखी हूं क्योंकि इतनी मेहनत से ट्रेनिंग करने के बावजूद मैं आने वाले कुछ सप्ताह तक टेनिस नहीं खेल पाऊंगी। मैं फिलहाल घर में आइसोलेशन में हूं और सभी जरुरी स्वास्थ्य एहितयात बरत रही हूं। अगले कुछ महीनों में कोर्ट में वापसी के लिए उत्सुक हूं।

बेंगलुरु । भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी के लिए भारतीय पुरुष हॉकी कोर संभावित समूह ने एसएआई, बेंगलुरु में एक सप्ताह के अनिवार्य संगरोध के बाद प्रशिक्षण शुरू कर दिया है। संगरोध में रहते हुए खिलाडिय़ों ने अपने फिटनेस स्तर को बनाए रखने के लिए कड़ा प्रशिक्षण लिया। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के ड्रैग-फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह ने कहा कि ब्रेक के दौरान हमने एक शेड्यूल का पालन किया। जब हम घर में थे तब भी हमें एक एक शेड्यूल दिया गया था। जिसका पालन सुनिश्चित किया गया। अब जब हमने वापस रिपोर्ट किया है तो हमारी अनिवार्य संगरोध से शुरुआत हुई है। अब हमें यह सुनिश्चित करना है कि हमारा फिटनेस स्तर अच्छा रहे।

मुंबई । केरल टीम के ओपनिंग बेट्समेन रोबिन उथप्पा की 91 रन की शानदार पारी खेलते हुए दिल्ली को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट के एलीट ग्रुप ई मैच में छह विकेट से हराकर अपनी लगातार तीसरी जीत दर्ज की जबकि दिल्ली को तीन मैचों में पहली हार का सामना करना पड़ा। दिल्ली ने कप्तान शिखर धवन की 48 गेंदों पर सात चौकों और तीन छक्कों की मदद से बनी 77 रन की जबरदस्त पारी, हिम्मत सिंह के मात्र 15 गेंदों पर दो चौकों और दो छक्कों की मदद से बने 26 रन, ललित यादव के 25 गेंदों पर पांच चौकों और तीन छक्कों के सहारे बने नाबाद 5 तथा अनुज रावत के 10 गेंदों में एक चौके और तीन छक्के के सहारे नाबाद 27 रन की बदौलत 20 ओवर में चार विकेट पर 212 रन का विशाल स्कोर बनाया।
केरल ने 19 ओवर में चार विकेट पर 218 रन बनाकर जीत अपने नाम की। पिछले मुकाबले में 137 रन की पारी खेलने वाले मोहम्मद अजहरुद्दीन इस बार खाता खोले बिना आउट हो गए। लेकिन रोबिन उथप्पा ने 54 गेंदों पर तीन चौकों और आठ छक्कों की मदद से 91 रन की जबरदस्त पारी खेलकर केरल को जीत दिला दी। विष्णु विनोद ने 38 गेंदों में तीन चौकों और पांच चौकों के सहारे नाबाद 71 रन ठोककर केरल को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। दिल्ली की तरफ से इशांत शर्मा, सिमरजीत सिंह, प्रदीप सांगवान और ललित यादव ने एक-एक विकेट लिया।

मुंबई । बहुप्रतीक्षित फिल्म 'मास्टर' महामारी और कई वेबसाइट पर लीक होने के बाद भी बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड बना सकती है, क्योंकि इस फिल्म के शुरुआती शो के लिए सुबह से ही दोनों कलाकारों के प्रशंसकों की सिनेमाघरों में भीड़ लगनी शुरू हो गई है। यह फिल्म तमिल सुपरस्टार थालापति विजय और विजय सेतुपति द्वारा अभिनीत है। कोविड-19 महामारी के बाद भी इसे बड़े पर्दे पर रिलीज किया गया है।
बता दें कि लोकेश कनगराज द्वारा निर्देशित 'मास्टर' में मालविका मोहनन, अर्जुन दास, एंड्रिया जेरेमिया और शांतनु भाग्यराज भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं। निर्माताओं ने 14 जनवरी को हिंदी में डब करके फिल्म को उत्तर भारत के सिनेमाघरों में रिलीज करने की योजना भी बनाई है। फिल्म प्रदर्शक विशेक चौहान ने शहर के सिनेमाघरों और यहां तक कि मुंबई के बाहर के भी फोटो और वीडियो ट्वीट किए। उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा, "मास्टर का सुबह 7 बजे का शो, यह दुनिया के कई हिस्सों में भी लगा है। महामारी के बाद भी यह शो हाउसफुल गए हैं। मास्टर एक ब्लॉकबस्टर है और थालापति विजय एक लीडर हैं।" फिल्म के बड़े बॉक्स ऑफिस कलेक्शन करने की घोषणा करते हुए ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्वीट किया, "यह मास्टर फिल्म की शानदार शुरुआत है। यह साबित करता है कि दर्शकों को वही देखने के लिए दें जो वे देखना चाहते हैं और फिर वे आपको कभी निराश नहीं करेंगे। बड़े पर्दे पर एक अच्छे मनोरंजन को देखने का आकर्षण कभी कम नहीं होगा।"
इस बीच दक्षिण की अभिनेत्री कीर्ति सुरेश ने सोशल मीडिया पर कहा कि वह मास्टर को देखने के लिए एक साल बाद थियेटर में वापस आई हैं। अभिनेत्री ने सुबह ट्वीट किया, "बता नहीं सकती कि एक साल इंतजार करने के बाद थिएटर में वापस आकर कैसा लग रहा है। यह मास्टर के लिए है।" कीर्ति ने खचाखच भरे सिनेमा हॉल में बड़े पर्दे पर मास्टर फिल्म को दिखाते हुए तस्वीर भी साझा की।

मुंबई ।बालीवुड एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा की फिल्म मर्डर मिस्ट्री 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' ओटीटी पर रिलीज होगी। इस बॉलीवुड फिल्म का प्रीमियर 26 फरवरी को नेटफ्लिक्स पर होगा। इस फिल्म का निर्देशन रिभु दासगुप्ता द्वारा ‎किया गया है। यह फिल्म मई 2020 में थियेटर में रिलीज होने वाली थी, लेकिन कोविड महामारी के कारण इसकी रिलीज टलती गई। रिभु ने कहा, "मैं हमेशा ऐसी शैली पर काम करना चाहता था और इसकी अनूठी कहानी मुझे पसंद आई। भावनाओं और रहस्यों दोनों क्षेत्रों में बहुत कुछ है, जिसे मैं इस थ्रिलर के माध्यम से दिखाना चाहता था। इसमें अस्वीकृति, अकेलापन, ताक-झांक, हर दिन की भाग-दौड़, जिसे हम देखते भी हैं और नहीं भी देखते हैं।" उन्होंने कहा, "फिल्म पर काम करने का एक बहुत ही शानदार अनुभव था। मुझे उम्मीद है कि दर्शक 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' देखने के लिए उतने ही उत्साहित होंगे जितने उत्साह से मैंने इसे बनाया है।" फिल्म हॉलीवुड थ्रिलर 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' की एक आधिकारिक हिंदी रीमेक है, जो इसी नाम की पाउला हॉकिन्स की 2015 बेस्टसेलर किताब पर आधारित है।
टेट टेलर के हॉलीवुड संस्करण में एमिली ब्लंट ने मुख्य भूमिका निभाई। नेटफ्लिक्स की प्रतीक्षा राव ने कहा, "हम भारत और दुनिया भर में अपने सदस्यों के लिए 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' लाने के लिए रोमांचित हैं। रिलायंस एंटरटेनमेंट के समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शिबाशीश सरकार ने कहा, 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' नेटफ्लिक्स के साथ हमारी पहली फिल्म सहयोग को चिह्न्ति करती है, वहीं हमारे सहयोग में बनी आने वाली कई और फिल्मे हैं। हम इस सस्पेंस थ्रिलर, रिभु की निर्देशकीय संवेदनाओं और बेहद प्रतिभाशाली कलाकारों के बारे में बहुत उत्साहित हैं।

मुंबई । एक हॉरर क्राइम थ्रिलर सीरीज में टेलीविजन कलाकार विवाना सिंह और मनीष गोपलानी नजर आने वाले हैं। इस सीरीज का शीर्षक 'मनोहर कहानियां' हैं। सीरीज में सच्ची कहानियों से प्रेरित घटनाएं दिखाई जाएंगी। ये दोनों शो के किसी एक एपिसोड में नजर आने वाले हैं, जिसकी कहानी एक पत्रकार रूद्र शंकर (मनीष) के इर्द-गिर्द घूमती है। न्यूजपेपर की बिक्री को बढ़ाने के लिए रूद्र काल्पनिक कहानियां लिखने लगता है, जो जल्दी ही वास्विकता में बदल जाती हैं। इसके बाद इंस्पेक्टर अश्विनी (विवाना) सभी हत्याओं का आरोपी मानते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लेती हैं। हालांकि हत्याओं का होना इसके बाद भी जारी रहता है और मारने का तरीका बिल्कुल वैसा ही होता है, जैसा जेल में बंद रुद्र अपने दिमाग में सोचता जाता है। विवाना किरदार पर कहती हैं, "एक पुलिस अफसर के रूप में काम करने में बहुत मजा आया। मैं एक पुलिस अफसर की ही बेटी हूं और इसलिए उनकी बॉडी लैंग्वेज मेरे अंदर स्वाभाविक रूप से ही है, क्योंकि एक पुलिस अधिकारी के साथ रहकर मैं बड़ी हुई हूं। सीरीज में मैंने जिस किरदार को निभाया है वह बेहद यर्थाथवादी है, जिसमें एक अलग बात है। मुझे कहानी पसंद आई, इसलिए इसे करने के लिए मैं राजी हो गई।
मुझे यकीन है कि इसे देखने के दौरान दर्शकों में काफी ज्यादा रोमांच का अनुभव होगा।" टाटा स्काई अद्भुत कहानियां पर प्रसारित होने वाले इस शो के किरदार पर मनीष ने कहा, "अपने पूरे करियर में पत्रकारों के साथ मेरा उठना-बैठना रहा है और इसलिए मैं इस किरदार को निभाने के लिए काफी रोमांचित था। मैंने कई पत्रकारों को देख उनसे उनके काम करने की बारीकियां सीखी हैं, ताकि अपने किरदार को मैं दिलचस्प बना सकूं।" अब देखना होगा ‎कि इस हॉरर क्राइम थ्रिलर सीरीज को दर्शक ‎कितना पसंद करते हैं।

बिलासपुर- महिला सम्बंधित अपराध को गम्भीरता से नही लेने पर और एसडीओपी के आदेश पर भी एफआईआर दर्ज नही करने की लापरवाही करना टीआई को भारी पड़ गया मामले को गम्भीरता से लेते हुए आईजी ने तत्कालीन टीआई की एक साल वेतनवृद्धि रोकने की सजा दी हैं।
मामले में मिली जानकारी के अनुसार चाम्पा में एक पीड़ित महिला ने अपने साथ महिला सम्बंधित अपराध घटित होने पर इसकी शिकायत चाम्पा थाने में की थी पर अपराध दर्ज नही होने पर चाम्पा एसडीओपी पदम् श्री तंवर से मिल कर इसकी शिकायत की एसडीओपी ने तुरन्त ही एफआईआर करने का निर्देश ततकालीन टीआई राजेश श्रीवास्तव को दिया था,पर एसडीओपी के निर्देश के बाद भी एफआईआर दर्ज नही होने पर महिला ने इसकी शिकायत एसडीओपी पद्मश्री तंवर से मिल कर की, शिकायत मिलने पर एसडीओपी ने इसकी जानकारी टीआई से ली तो पता चला कि निर्देश देने के बाद भी टीआई राजेश चौधरी ने एफआईआर दर्ज नही की हैं।
महिला सम्बंधित अपराध में शिकायत के बाद भी एफआईआर दर्ज नही करने व एसडीओपी के निर्देश का उल्लंघन करने को गम्भीरता से लेते हुए आईजी श्री रतन लाल डांगी ने टीआई राजेश चौधरी के एक वर्ष की वेतन वृद्धि रोकने की सजा दी हैं।
इसी तरह अजाक थाने में 2019 में एक मामला दर्ज हुआ था जिसमे आज तक आरोपियों की गिरफ्तारी नही हो पाई हैं और प्रकरण के विवेचक अजाक डीएसपी रितेश चौधरी के द्वारा आज तक न ही गवाहों का कथन लिया
गया हैं न ही पीड़ित का जिसको आईजी ने गम्भीरता से लेते हुए उक्त मामले में डीएसपी चौधरी के खिलाफ विभागीय कार्यवाही करने हेतु नोटिस जारी किया हैं।
यह हैं मामला:-
चाम्पा थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला वंदना पूरी गोस्वामी की शादी दिनांक 27/4/18 को महासमुंद के मनीष पुरी गोस्वामी के साथ हुई थी। मनीष रायपुर के आरंग में रहता हैं।शादी में लड़की के घर वालो ने अपने सामर्थ्य अनुसार दहेज दिया था पर वंदना के पति मनीष पूरी गोस्वामी के द्वारा 5/5/18 को सुबह लगभग 11 बजे ताना मारते हुए कहा गया की दहेज कम मिला है और दहेज में बाइक और 50 हजार और मिलना चाहिए था उसके बाद लगातार दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा और वंदना को उसके मायके छोड़ दिया गया।इस बीच वंदना गर्भवती हो गयी और जून 19 में लड़की के पैदा होने पर एक बार बीच मे देखने आया फिर वापस चला गया।बार बार बुलाने पर भी वंदना को बिना बाइक और 50 हजार मीले ले जाने को तैयार नही हुआ जिसकी शिकायत वंदना ने पुलिस मे कि थी।शिकायत मिलने पर चाम्पा एसडीओपी पद्मश्री तंवर ने मामले को काउंसलिंग में भेजा था और काउंसलिंग करवाने के बाद यदि पति पत्नी में सुलह न हो पाए तो एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे ,पर काउंसलिंग में समझौता नही होने के बाद भी टीआई के द्वारा एफआईआर दर्ज करने में अनावश्यक विलम्ब किया गया इसलिए आईजी ने टीआई पर वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की।

नई दिल्ली | काले हिरन के शिकार के मामले में बॉलीवुड स्टार सलमान खान शनिवार को अदालत में पेश नहीं हो सके। जोधपुर की जिला एवं सत्र अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 6 फरवरी की तारीख तय की है। सलमान खान ने खुद ही इस मामले में अपनी ओर से अपील दायर की थी, जिस पर सुनवाई होनी थी। लेकिन सलमान खान अदालत नहीं पहुंचे। सलमान खान ने अपने वकील हस्तीमल सारस्वत के जरिए खुद को निजी तौर पर कोर्ट में पेश होने की छूट देने की मांग की थी। हस्तीमल सारस्वत ने कहा कि अदालत में हमने सलमान खान की ओर से प्रार्थना पत्र दिया है।

इस ऐप्लकेशन में कहा गया है कि कोरोना संकट के चलते सलमान खान के लिए यात्रा करना और निजी तौर पर कोर्ट में पेश होना रिस्की हो सकता है। इसके साथ ही सलमान खान ने कहा है कि अदालत जब भी उन्हें व्यक्तिगत तौर पर पेश होने को कहेगी, वह मौजूद रहेंगे। इससे पहले मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने उन्हें अदालत में पेश रहने को कहा था।
दरअसल सलमान खान ने ट्रायल कोर्ट से उन्हें दी गई 5 साल कैद की सजा को सेशन कोर्ट में चुनौती दी है। बता दें कि 5 अप्रैल, 2018 को दिए अपने फैसले में जोधपुर की सीजेएम कोर्ट ने सलमान खान को लुप्त प्रजाति के दो काले हिरणों के शिकार के मामले में 5 साल कैद की सजा सुनाई थी।
सलमान खान को वाइल्डलाइफ प्रोटेक्शन ऐक्ट के तहत दोषी करार देते हुए अदालत ने उन पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया था। इसके बाद सलमान खान की अपील पर जोधपुर जिले की जिला एवं सत्र अदालत ने उस फैसले पर 7 अप्रैल, 2018 को रोक लगा दी थी और उन्हें सशर्त जमानत दी थी। इसके अलावा राज्य सरकार की ओर से आर्म्स ऐक्ट केस में सलमान खान को बरी किए जाने के खिलाफ भी याचिका दायर की गई है। इस पर भी सलमान खान ने अपने वकील के जरिए कोर्ट से व्यक्तिगत तौर पर पेश में छूट देने की अपील की है।

कांग्रेस सांसद ने कहा कि हर मुल्क में जहां टीकाकरण शुरू हुआ, वहां के मुखिया ने सबसे पहले टीका लगवाया है। अमेरिका में जो बाइडेन हैं, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस हैं इन सबने सबसे पहले टीका लगवाना ताकि देश के सामने यह संदेश जाए कि यह टीका सुरक्षित है और यह आपकी हिफाजत करेगा।

नयी दिल्ली। कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। इस बीच कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि कोई जिम्मेदार नेता अभी तक टीका लगवाने के लिए सामने क्यों नहीं आया ? जिससे यह संदेश जाए कि यह टीका सुरक्षित है। समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने यह बात कही।  

कांग्रेस सांसद ने कहा कि हर मुल्क में जहां टीकाकरण शुरू हुआ, वहां के मुखिया ने सबसे पहले टीका लगवाया है। अमेरिका में जो बाइडेन हैं, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस हैं इन सबने सबसे पहले टीका लगवाना ताकि देश के सामने यह संदेश जाए कि यह टीका सुरक्षित है और यह आपकी हिफाजत करेगा। इंग्लैंड में बोरिस जानसन हैं, उन्होंने सबसे पहले टीका लगवाया और बाकी मुल्कों में भी ऐसी ही प्रक्रिया आजमाई जा रही है।

मनीष तिवारी ने आगे कहा कि अगर यह टीका सुरक्षित है तो अभी तक इस सरकार के कोई जिम्मेदार मंत्री सामने क्यों नहीं आए ? जिससे यह संदेश जाए कि यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। उल्लेखनीय है कि टीकाकरण अभियान के पहले चरण में 3 करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट वर्कर्स को कोरोना का टीका लगाया जाएगा।

बता दें कि टीकाकरण के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3,006 केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन करीब 3 लाख हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी, जिसका मतलब है कि पहले दिन सभी सेंटर्स पर 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा।

Page 1 of 1742

फेसबुक