सौंफ में मौजूद Polyphenol कर देगा इन 5 परेशानियों का खात्मा, डाइट में करें शामिल

सौफ एक बेहद खुशबूदार सीड है, इसका इस्तेमाल हम आमतौर पर नेचुरल माउथ फ्रेशनर के तौर पर करते हैं, भोजन करने के बाद इसे चबाने से मुंह की दुर्गंध गायब हो जाती है. कई मिठाइयों और फूड आइटम्स में भी इसे मिक्स किया जाता है ताकि बेहतर फ्लेवर आ सके. सौंफ में पॉलीफेनोल नाम एंटीऑक्सिडेंट होता है जो एक पॉवरफुट इंफ्लामेट्री एजेंट के तौर पर काम करता है. इस बीज की मदद से आपकी ढेर सारी परेशानियां छूमंतर हो सकती हैं.

दिल की बीमारी

भारत एक ऐसा देश है जिसमें दिल के मरीजों की तादाद काफी ज्यादा है, काफी लोग ऐसी बीमारी की वजह से हर साल अपनी जान गंवा बैठते हैं. अगर आप डेली करीब 7 से 10 ग्राम सौंफ खाएंगे तो इसमें मौजूद पोटैशियम, मैग्‍नेशियम और कैल्शियम हार्ट अटैक जैसी डिजीज का खतरा काफी हद तक कम कर देंगे.

भूख की कमी

कुछ लोग भूख न लगने से परेशान रहते हैं, उनको सौंफ जरूर चबाना चाहिए, आप चाहें तो सौंफ कों उबालकर इसका पानी गुनगुना होने पर पी सकते हैं इससे डाइजेशन बेहतर होगा और आपकी हंगर क्रेविंग बेहतर होगी

ब्रेस्‍ट फीडिंग

जो माताएं अपने नवजात बच्चे को ब्रेस्टफीड कराती है, उन्हें सौंफ का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि ये मिल्क के प्रोडक्शन को बढ़ाकर शिशु को बेहतर न्यूट्रीशन देने में मदद करता है.

डायबिटीज

डायबिटीज के मरीजों को अक्सर तबीयत बिगड़ने का डर रहता है, लेकिन अगर वो रोजाना एक ग्लास सौंफ का पानी पिएंगे तो ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल हो जाएगा

कैंसर से बचाव

कई रिसर्च में ये साबित हुआ है कि सौंफ के एक्‍सट्रैक्‍ट में कैंसर से लड़ने और इसके बुरे असर को रोकने में काफी प्रभावी हो सकते हैं. महिलाओं को सौंफ जरूर खाना चाहिए क्योंकि ये ब्रेस्ट कैंसर, समेत लिवर कैंसर के रिस्क को भी कम कर सकता है.

Rate this item
(0 votes)
  • RO No 12822/57 "
  • RO No 12822/57 "
  • RO No 12784/60 "

Ads

RO No 12822/57 "
RO No 12822/57 "
RO No 12784/60 "

फेसबुक