newscreation

newscreation

T20 World Cup 2021 की तैयारियों के मद्देनजर सुपर 12 के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुकी टीमें आज अपने-अपने वार्मअप मैच में एक-दूसरे से भिड़ेंगी। भारत और पाकिस्तान की टीम को भी अपने-अपने वार्मअप मैच आज खेलने हैं, जहां पाकिस्तान की टीम को मौजूदा चैंपियन वेस्टइंडीज से भिड़ना है, जबकि भारतीय टीम अपने वार्मअप मैच में इंग्लैंड की टीम से भिड़ेगी। आज कुल मिलाकर चार वार्मअप मैच खेले जाएंगे।

सोमवार 18 अक्टूबर को पहला वार्मअप मैच पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच दुबई के आइसीसी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा, जो कि भारतीय समय के अनुसार दोपहर साढ़े 3 बजे से शुरू होगा। दूसरा मैच भी इसी समय अबू धाबी के शेख जायद स्टेडियम नर्सरी 2 ग्राउंड पर अफगानिस्तान और साउथ अफ्रीका के बीच खेला जाएगा। इसी मैदान पर शाम को साढ़े 7 बजे से न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया की टीम अपने-अपने वार्मअप मैच में भिड़ेंगी।

दिन का आखिरी वार्मअप मैच शाम साढ़े 7 बजे से भारत और इंग्लैंड के बीच दुबई के आइसीसी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा। इसी मैदान पर पहले पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच वार्मअप मैच खेला जाएगा। मुख्य स्टेडियमों का इस्तेमाल इसलिए नहीं किया जा रहा है, क्योंकि उन मैदानों पर हाल ही में आइपीएल के मैच खेले गए हैं और उन्हें आइसीसी टी20 विश्व कप 2021 के लिए तैयार किया जा रहा है। ऐसे में मुख्य स्टेडियम मैचों के लिए उपलब्ध होंगे।

सभी टीमों के पास टी20 विश्व कप 2021 से पहले अपनी तैयारियों को दुरुस्त करने का मौका है, क्योंकि लगभग सभी टीमें काफी समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर रही हैं। हालांकि, अच्छी बात ये है कि ज्यादातर खिलाड़ी किसी न किसी लीग में या फिर किसी न किसी टूर्नामेंट में व्यस्त रहे हैं। ऐसे में मैच फिटनेस में कोई दिक्कत नहीं होगी, लेकिन सभी के पास अपनी खोई लय हासिल करने का मौका होगा।

आईसीसी टी-20 विश्व कप में भारत और पाकिस्तान के बीच छह दिन बाद मैच खेला जाएगा। इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट ने टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को लेकर बयान दिया है। आईपीएल 2021 में दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी कर चुके पंत अब विश्व कप में भारतीय टीम में खेलते नजर आएंगे। पंत हमेशा अजीबोगरीब शॉट खेलने के अलावा आक्रामक बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में सलमान बट ने पंत की बल्लेबाजी को लेकर बयान दिया है। उनके मुताबिक भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज मूडी हैं।

बातचीत के दौरान जब सलमान बट से यह पूछा गया कि क्या विश्व कप में ऋषभ पंत एक्स फैक्टर साबित हो सकते हैं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, वह बहुत ही मूडी खिलाड़ी हैं, पंत एकदम से गेंद को मारने लगते हैं, वह लगातार ऐसा कर रहे हैं जिसके चलते टीमें उन्हें पढ़ लेती हैं, मेरे विचार से पंत थोड़ा प्रिडिक्टेबल हो गए हैं। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान के मुताबिक, उन्हें थोड़ा परिपक्व माइंडसेट के साथ खेलने की जरूरत है, वह बहुत प्रतिभाशाली और होनहार क्रिकेटर हैं, उनके पास बहुत स्ट्रोक हैं।

भारतीय क्रिकेट टीम के विेकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत पहली बार आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करेंगे। इससे पहले वह 2019 में 50 ओवर वाले विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं। टी-20 विश्व कप में भारतीय टीम को बहुत उम्मीदें हैं।

पंत करीब चार साल से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहे हैं। अब तक 25 टेस्ट मैच खेल चुके पंत ने 1549 रन बनाए हैं। टेस्ट क्रिकेट में उनका सर्वोच्च स्कोर 159 रन नाबाद रहा। क्रिकेट के सबसे बड़े प्रारूप में तीन शतक समेत सात अर्धशतक भी उनके नाम दर्ज हैं। उन्होंने 18 एकदिवसीय मैच भी भारत के लिए खेले हैं जिनमें उनके बल्ले से 529 रन निकले। वनडे क्रिकेट में उनके नाम तीन अर्धशतक हैं जिनमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 78 रन है। इसके अलावा पंत ने भारत के लिए 33 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जिनमें वह 512 रन बनाने में सफल रहे। टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उनका बेस्ट स्कोर 65 रन नॉट आउट है।

बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। वह अक्सर सोशल मीडिया के माध्यम से अपने फैंस के साथ बातचीत करते हैं। इतना ही नहीं अनुपम खेर सोशल मीडिया के जरिए अपनी निजी जिंदगी के बारे में भी खास खुलासे करते रहते हैं। फैंस को सबसे ज्यादा उनकी मां दुलारी की वीडियोज बेहद पसंद आती है। अनुपम खेर ने हाल ही में अपने फैंस के साथ एक वीडियो शेयर की है। दरअसल, वह इस वक्त अपनी फिल्म की शूटिंग के लिए नेपाल में हैं, जिसका निर्देशन सूरज बड़जात्या कर रहे हैं। इस वीडियो में अनुपम खेर सीढ़ियों पर चढ़ते हुए अपने आस-पास का खूबसूरत नजारा भी दिखाते हैं। इस दौरान वह गिरते गिरते बच जाते हैं।

अपने इस वीडियो को शेयर करते हुए अनुपम खेर लिखते हैं, 'आमतौर पर अपने साहस का अंदाज़ा तभी होता है जब हम अपने आपको मुश्किल हालात में डालते है।सूरज बड़जात्या की ‘ऊँचाई’ फ़िल्म की नेपाल शूटिंग ने एहसास दिलाया कि थोड़ा हंसते हुए काम करने से रास्ता आसान लगता है। चेहरा लाल हो गया है, साँस फूल रही है। लेकिन इरादे बुलंद है! जय हो!'

ये कोई पहला मौका नहीं है जब उनकी वीडियो वायरल हुई हो। वह जिस भी वीडियो को अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से शेयर करते हैं, उसका वायरल होना तय होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह हर वीडियो में जान फूंक देते हैं। जिसे उनके फैंस बेहद पसंद करते हैं।


शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान फिलहाल मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के साथ उसकी हिरासत खत्म होने के बाद उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। आर्यन की जमानत का आदेश 2 अक्टूबर के लिए सुरक्षित रखा गया है।

जेल अधिकारियों ने आर्यन खान की सुरक्षा बढ़ा दी है। कथित तौर पर, उसे एक विशेष बैरक में ले जाया गया है और अधिकारियों द्वारा उसकी निगरानी की जा रही है। रिपोर्टों में आगे कहा गया है कि स्टार किड्स भी ड्रग मामले के अन्य आरोपियों से बातचीत और मुलाकात नहीं कर रहे हैं।

मीडिया में इस तरह की रिपोर्ट्स हैं कि आर्यन को जेल की स्थितियों और वहां का खाना रास नहीं आ रहा। पहले कुछ दिनों को आर्यन खान ने सिर्फ बिस्कुट खानकर दिन गुजारे थे। पीने के लिए भी उनके पास सिर्फ कुछ बॉटल ही मिनिरल वॉटर बचे थे। कहा जा रहा था कि आर्यन इसलिए भी कुछ नहीं खा रहे थे ताकि उन्हें जेल के गंदे टॉयलेट में जाना ना पड़ा।

इससे पहले, अधिकारियों ने खुलासा किया कि आर्यन के माता-पिता ने उसे कैंटीन के खर्च के लिए 4500 रुपए का मनी ऑर्डर भेजा था। कथित तौर पर उसके लिए अभी तक किसी भी घरेलू भोजन की अनुमति नहीं दी गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने अपनी टीम के साथ हाल ही में आर्यन खान की काउंसलिंग की थी। इस दौरान आर्यन ने उनसे कहा कि जेल से बाहर निकलने के बाद वो गरीबों और कमजोरों की मदद करेंगे। काउंसलिंग सेशन में आर्यन ने ये भी वादा किया कि वो अब कभी कुछ गलत नहीं करेंगे जिसकी वजह से वो चर्चा में आएं। इसके साथ ही आर्यन ने कहा, 'मैं एक दिन ऐसा कुछ जरूर करूंगा, जिससे आपको मुझ पर गर्व होगा।'

शहनाज गिल धीरे-धीरे अपनी लाइफ में नॉर्मल हो रहीं हैं। हाल ही में उनकी फिल्म 'हौंसला रख' रीलिज हुई जिसने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी है। शहनाज के फैंस फिल्म में उनकी परफॉर्मेंस से काफी खुश हैं। वहीं अब एक्ट्रेस की लेटेस्ट फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। जो फैंस की खुशी को और बढ़ा रही है।

शहनाज गिल की ये ताजा तस्वीरें उनकी फिल्म 'हौंसला रख' के सेट की हैं। इन तस्वीरों में शाहनाज फिल्म के सेट पर दिलकश पोज देती दिख रही हैं। सिद्धार्थ के निधन के बाद शॉक में पहुच चुकीं शहनाज को देख फैंस का दिल दुखता था। अब इतने दिनों बाद उन्हें हंसती मुस्कुराती पुरानी शहनाज नजर आईं, ये देख फैंस खुशी से झूम उठे।

बता दें कि 'हौंसला रख' की शूटिंग कनाडा में हुई थी और ये तस्वीरें भी वहीं की हैं। इन तस्वीरों में शहनाज खूबसूरत लहंगे में झूमती नजर आ रहीं हैं। ये तस्वीरें फैशन डिज़ाइन केन फर्न्स ने इंस्टाग्राम पर शेयर की हैं। जिसके बाद इसे विरल भयानी ने भी शेयर किया। इन तस्वीरों पर फैन्स जमकर प्यार बरसा रहे हैं और उनकी खुशियों के लिए दुआएं करते भी नजर आ रहे हैं।

शहनाज गिल की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहीं हैं। फैंस, शहनाज को फिल्म और आगे कि जिंदगी के लिए बेस्ट विशेज दे रहे हैं। एक ने लिखा ऐसे ही मुस्कुराती रहो। एक यूजर ने लिखा कि उदास मत हुआ करो स्माइल करते हुए ही अच्छी लगती हो। बता दें कि दर्शकों को यह फिल्म काफी पसंद आ रही जिसमें शहनाज के साथ दिलजीत दोसांझ भी लीड रोल में हैं।

भारत ने वर्ष 2030 तक नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा की स्थापित क्षमता का लक्ष्य 450 गीगावाट (4.50 लाख मेगावाट) का रखा है और इनमें से 280 गीगावाट (2.80 लाख मेगावाट) की हिस्सेदारी सोलर ऊर्जा की होगी। सिर्फ सोलर ऊर्जा के लक्ष्य को हासिल करने के लिए अगले नौ साल तक प्रत्येक वर्ष 1.19 लाख करोड़ रुपये का निवेश करना होगा। हालांकि इतने बड़े पैमाने पर सोलर उत्पादन के लक्ष्य को हासिल करने के लिए भारत में सोलर पैनल और इनसे जुड़े अन्य प्रकार के आइटम की उत्पादन क्षमता में भी बढ़ोतरी करनी होगी। ऐसा नहीं करने पर भारत को भारी मात्रा में आयात करना होगा।

नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा (एमएनआरई) मंत्रालय के मुताबिक अभी देश में सोलर बिजली उत्पादन क्षमता 40.5 हजार मेगावाट की है और 2030 तक 2.80 लाख मेगावाट के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सोलर क्षमता में हर साल लगभग 26,600 मेगावाट का विस्तार करना होगा। सोलर पावर के एक मेगावाट की स्थापना में 4.5 करोड़ रुपये की लागत आती है। इस प्रकार हर साल 26.6 हजार मेगावाट की स्थापना के लिए 1.19 लाख करोड़ रुपये का निवेश करना होगा।

भारत सोलर बिजली उत्पादन के इस मेगा लक्ष्य को हासिल करने के लिए सोलर से जुड़े मैन्यूफैक्चरिंग प्रोत्साहन के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआइ) की घोषणा कर चुका है। हालांकि, पीएलआइ के तहत तेजी से मैन्यूफैक्चरिंग शुरू नहीं होने पर सोलर उत्पादन क्षमता में विस्तार के लिए भारत को भारी मात्रा में आयात करना होगा। मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक भारत के पास जहां सालाना 3000 मेगावाट के फोटोवोल्टिक सेल बनाने की क्षमता है तो वहीं 10-15 हजार तक पीवी मोड्यूल बनाने की है। वहीं सिर्फ 5000 मेगावाट के लिए सोलर इन्वर्टर देश में बनाए जा सकते है। सोलर बिजली उत्पादन से जुड़े पालीसिलिकान, वेफर जैसे कल-पुर्जो का उत्पादन भारत में होता ही नहीं है। वित्त वर्ष 2019-20 में 2.5 अरब डालर मूल्य के सोलर वेफर्स, सेल्स मोड्यूल्स और इन्वर्टर का आयात किया गया था।

सोलर उत्पादन में 2022 के लक्ष्य से पीछे

एमएनआरई मंत्रालय ने वर्ष 2022 तक 1.75 लाख मेगावाट नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता स्थापित करने का लक्ष्य रखा था। इनमें एक लाख मेगावाट की हिस्सेदारी सोलर पावर की थी। हालांकि सोलर उत्पादन क्षमता की स्थापना की अब तक की प्रगति को देखकर अगले साल तक सोलर उत्पादन क्षमता को एक लाख मेगावाट तक ले जाना आसान नहीं दिख रहा है।

इस साल अगस्त तक सोलर बिजली उत्पादन की क्षमता 40.5 हजार मेगावाट तक ही पहुंच पाई है। अगले एक साल में लगभग 60 हजार मेगावाट क्षमता की स्थापना करनी होगी। मंत्रालय का दावा है कि सोलर उत्पादन से जुड़ी लगभग 36.50 हजार मेगावाट की निविदाएं अंतिम अवस्था में हैं और 18 हजार से अधिक के लिए निविदाएं जारी कर दी गई हैं।

 

एयर इंडिया ने रविवार को एक अहम आदेश जारी किया। कंपनी ने कहा कि एयरक्राफ्ट के 10 लाख रुपये से अधिक मूल्य वाले नए कल-पुर्जे और पांच लाख रुपये से अधिक मूल्य वाले ऐसे पार्ट्स जिनकी विमान में जरूरत नहीं होती है, उनकी खरीद डायरेक्ट फाइनेंस अथवा एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर फाइनेंस की मंजूरी के बाद ही की जाएगी। अगर विमान के किसी पार्ट्स की मरम्मत में 10 लाख रुपये से ज्यादा का खर्च आना है तो इसके लिए भी पहले एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर इंजीनियरिंग से मंजूरी लेनी होगी।

यह आदेश एयर इंडिया के डायरेक्टर (फाइनेंस) विनोद हेजमादी द्वारा तब जारी किया गया जब नागरिक उड्डयन सचिव राजीव बंसल ने कहा कि एयरलाइन के विनिवेश की कवायद अगले 10 सप्ताह के भीतर पूरी होने की संभावना है। ऐसे में केवल आवश्यक राजस्व और पूंजीगत व्यय ही किया जाना चाहिए। राजीव बंसल एयर इंडिया के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर का प्रभार भी संभाल रहे हैं।

टाटा को हम दुधारू गाय नहीं सौंप रहे

एयर इंडिया के निजीकरण को लेकर लोक संपत्ति एवं प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय का कहना है कि टाटा को हम दुधारू गाय नहीं सौंप रहे हैं। यह एयरलाइन संकट में थी और इसके बिकने से 20 करोड़ रुपये प्रतिदिन करदाताओं के बचेंगे। टाटा को एयरलाइन की गैर-मुख्य संपत्तियां मसलन वसंत विहार में एयर इंडिया की आवासीय कालोनी, मुंबई के नरीमन पाइंट में एयर इंडिया का भवन और नई दिल्ली में कंपनी का भवन भी नहीं मिलेगा।

पांडेय ने कहा कि हमने टाटा समूह को दो साल के लिए इनके इस्तेमाल की अनुमति दी है। दो साल के अंदर हमें इनके मौद्रिकीकरण की योजना बनानी होगी, जिससे इस पैसे का इस्तेमाल विशेष इकाई एआइएएचएल की देनदारियों को पूरा करने के लिए किया जा सके।

नई दिल्ली। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने लखीमपुर हिंसा में मामले में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को बर्खास्त नहीं किए जाने को लेकर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। बैठक में कहा गया कि यह घटना भाजपा की हठधर्मिता का स्पष्ट नमूना है। सीडब्ल्यूसी बैठक में गंभीर कृषि संकट और भारत के किसानों पर बर्बर हमला विषय पर प्रस्ताव पारित कर तीनों कृषि कानूनों पर केंद्र की हठधर्मिता पर निशाना साधा गया।
प्रस्ताव में कहा गया कि खेती के तीन ‘काले कानून’ मोदी सरकार द्वारा मुट्ठीभर पूंजीपति मित्रों को मुनाफा कमवाने के लिए भारत के अन्नदाता किसानों का दमन करने की एक कुत्सित साजिश की पराकाष्ठा है। साढ़े दस महीनों से, लाखों किसान दिल्ली की सीमाओं पर शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। अपने हक की इस लड़ाई में लगभग एक हजार किसान अपनी जान गंवा चुके हैं, लेकिन मोदी सरकार उनकी बात तक सुनने को तैयार नहीं।
सीडब्ल्यूसी ने कहा लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचलकर मारने की घटना सरकार की हठधर्मिता प्रदर्शित करती है। यह घटना केंद्रीय गृहराज्य मंत्री की ओर से सार्वजनिक रूप से धमकी दिए जाने के बाद घटित हुई। इस धमकी से उनका संदिग्ध अतीत स्पष्ट होता है। प्रस्ताव में कहा गया है जब कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में जनता द्वारा दबाव डाले जाने पर गृह मामलों के लिए केंद्रीय राज्य मंत्री के बेटे को आरोपी मानकर गिरफ्तार कर लिया गया है, तब भी प्रधानमंत्री जी ने मंत्री को बर्खास्त करने से इंकार कर दिया है।
कांग्रेस कार्यसमिति राहुल गांधी द्वारा साहस व निरंतरता से किसानों के मुद्दों के लिए लड़ने और प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा दृढ़ता से उत्तर प्रदेश में किसानों की हत्या के खिलाफ लड़ाई की सराहना करती है। सीडब्ल्यूसी ने आरोप लगाया लोकतांत्रिक संस्थाओं पर हमला मोदी सरकार के कारनामों का एक और दुखद पहलू है। भारत ने लोकतंत्र के रूप अपनी मान्यता खो दी है, इसे अब निर्वाचित अधिनायकवाद के रूप में देखा जाने लगा है। संसद की तिरस्कारपूर्ण अवमानना की गई।

फतेहपुर । हिमाचल प्रदेश के परिवहन एवं उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी फतेहपुर चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है। भाजपा फतेहपुर में आक्रामक रूप से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और भाजपा की जयराम सरकार के विकास के नाम पर जनता के बीच आई है। जहां भी सरकार के प्रतिनिधि न होने की वजह से विकास रुका पड़ा है उसे महज एक साल में गति दी जाएगी। बिक्रम ठाकुर ने फतेहपुर में चुनावी सभा के दौरान पत्रकारों से से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्टी को कमजोर करने के लिए जो आम लोगों के बीच भ्रांतियां बोई जा रही है कि भाजपा के पदाधिकारियों द्वारा विरोध में कार्य किया जा रहा बिल्कुल गलत है सभी एकजुटता से कार्य कर रहे है। कांग्रेस प्रत्याशी को अपने शीर्ष नेतृत्व पर भी विश्वास नही उन्होंने जो अपना पोस्टर जारी किया है उसमें स्वर्गीय वीरभद्र सिंह एवं स्वर्गीय सुजान सिंह पठनीया को ही ही स्थान दिया उनको केंद्रीय नेतृत्व के साथ साथ प्रदेश नेताओं पर भी कोई विश्वास नहीं है। कांग्रेस प्रत्याशी क्षेत्रवाद पर ही दाव खेल रही क्योंकि वो भी जानते हैं कि राष्ट्रीय औऱ प्रादेशिक नेताओं में इतनी कुव्वत नही की वो उन्हें चुनाव जीता सके ।
कांग्रेस ने कभी भी मुददों पर बात नहीं की है क्षेत्रवाद, परिवारवाद के साथ साथ धड़ों में कार्य करती रही है। प्रदेश में कांग्रेस के दो धड़े कार्य करते रहे हैं एक वीरभद्र कांग्रेस और एक कांग्रेस, वीरभद्र कांग्रेस हमेशा कांग्रेस पर भारी रही है यही वजह है और उनके हस्तक्षेप के बगैर कांग्रेस की जीत लगभग असंभव रही है। इसलिए उनकी मृत्यु के बाद भी श्रद्धांजलि का नाम ले कर वोट मांगे जा रहे। कांग्रेस के पास नेताओं की कमी के साथ ही मुद्दों की भी कमी है और वो जनभावनाओं के साथ खेल कर दोनों स्वर्गीय नेताओं के नाम पर बंदूक तान कर निशाना लगाने का प्रयास कर रहे हैं। फतेहपुर में जो बाहरी और भीतरी का नारा दिया जा रहा है जनता खुद तय करे की जो उनके प्रत्याशी है जो आज तक बाहर रहे अपने पिता द्वारा बनाई सियासी जमीन पर अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं जबकि भाजपा प्रत्याशी एक साधारण परिवार से संबंध रखते एवं लंबे समय से उसी क्षेत्र में लोगों के बीच कार्य कर रहे हैं।

धर्मशाला । हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर की चुनावी रणनीति से सत्तारूढ़ भाजपा इस कदर परेशान है कि गोदी मीडिया का सहारा लेकर प्रायोजित षड्यंत्रकारी खबरें लगाई जा रही हैं। यह सब भाजपा की हड़बड़ाहट के सिवा कुछ नहीं है। यह बात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने आज कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कहां जा रहे हैं। किससे मिल रहे हैं। किन किन वरिष्ठ कार्यकर्ता का मनोबल बढ़ा कर चुनावों के लिए सक्रिय कर रहे हैं। यह सब जानकारी गोदी मीडिया या विपक्ष को देना आवश्यक नहीं है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा क्योंकि प्रदेशाध्यक्ष की रणनीति से विपक्ष बैकफुट पर जा रहा है और दिन प्रतिदिन कांग्रेस चारों सीटों पर मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है इसी लिए कांग्रेस को रोकने के लिए अनावश्यक विवाद खड़े करने की कोशिश हो रही है। दीपक शर्मा ने खुलासा किया कि भाजपा के बड़े नेता कुल्लू, मंडी, फतहपुर और कोटखाई में कांग्रेस के सम्पर्क में हैं।
प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर की रणनीति ने भाजपा को परेशान कर रखा है। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा चाहती है कि कांग्रेस के हर नेता के दौरे का विस्तृत विवरण और गतिविधियों की जानकारी उन्हें उपलब्ध रहे तो यह सम्भव नहीं है। कांग्रेस पार्टी को किस तरह आगे बढ़ना है इसका फ़ैसला कांग्रेस के विरोधी नहीं करेंगे। दीपक शर्मा ने कहा कि जिस तरह से प्रायोजित षड्यंत्र और खबरें प्लांट करके कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को बदनाम करने का अभियान भाजपा ने शुरू किया है उससे साफ झलकता है कि भाजपा बैकफुट पर है और चारों उपचुनाव हार रही है।
दीपक शर्मा ने कहा कि भाजपा इन उपचुनावों में महंगाई, बेरोजगारी जैसे जनता के ज्वलन्त प्रश्नों का जबाब देने से बच रही है। जनाक्रोश को देखते हुए गैरज़रूरी मुद्दों को हवा देकर चुनावी वैतरणी पार करना चाहती है। लेकिन भाजपा अपने षड्यंत्रकारी मंसूबों में कामयाब नहीं होगी। जनता भाजपा को ज़मीन सुंघाने का मन बना चुकी है।

 

Page 2 of 2931

फेसबुक