बिज़नस

बिज़नस (3379)

डीजीसीए ने एयर इंडिया एयरलाइन पर 1.10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। दरअसल, एयरलाइन पर संचालित उड़ानों में सुरक्षा उल्लंघन के आरोप लगाए गए। इन आरोपों के बाद डीजीसीए ने कार्रावाई शुरू कर दी। लंबी दूरी के महत्वपूर्ण मार्गों पर फ्लाइट पर सुरक्षा उल्लंघन के आरोप लगाए गए हैं।

 

नई दिल्ली । इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए केंद्र सरकार नई नीति लाने की तैयारी में है। यदि ऐसा होता है तो फास्टर एडॉप्‍शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल 3 (फेम-3) जल्द ही आ सकती है। ये प्रोडक्‍शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम से अलग आएगी। विदेशी कंपनियां भारतीय बाजार में दस्तक देना चाहती हैं, ऐसे में सरकार नई नीति तैयार करने में लगी है।
गौरतलब है कि फेम- 2 के चलते 2023 में ईवी की कुल बिक्री में एक साल के अंदर ही 50 प्रतिशत की बढ़त देखने को मिली है। 2021 में ऑटोमोबाइल की कुल बिक्री मे इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री केवल 1.02 प्रतिशत थी जो साल 2023 में बढ़कर 6.83 प्रतिशत हो गई। अब सरकार आने वाले 6 साल के अंदर इसको बढ़ा कर 30 प्रतिशत तक करना चाहती है। टेस्ला जैसी इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां इंडिया में निवेश करने के लिए लंबे समय से हाथ पैर मार रही हैं।
सूत्रों के अनुसार ऐसी कंपनियों को अलग से कोई लाभ देने की सरकार की कोई मंशा नहीं है। उनको भी वैसे ही लाभ दिए जाएंगे जैसे घरेलू कंपनियों को दिए जाएंगे। दरअसल टेस्ला इंडिया में पहले एक निश्चित संख्या में कार आयात कर बेचना चाहती है और इसके करीब दो साल बाद वो यहां पर अपनी मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने का प्लान कर रही है और सरकार से ईवी की इंपोर्ट ड्यूटी पर भारी छूट चाहती है। लेकिन सरकार के सूत्रों के अनुसार नई नीति में टेस्ला को ऐसी कोई छूट नहीं दी जाएगी। ये नीति सभी के लिए एक समान होगी। सरकार ईवी बिक्री और मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ाने के लिए फाइनेंशियल ईचर 2024-25 में फेम 3 शुरू कर सकती है।
गौरतलब है कि फेम 2 की अवधि मार्च में खत्म होने जा रही है। इसके बाद इलेक्ट्रिक व्हीकल की खरीद पर सरकार की ओर से मिलेने वाली सब्सिडी खत्म की जा सकती है। सरकार का मानना है कि घरेलू कंपनियों पर नई नीति से किसी भी प्रकार का गलत प्रभाव नहीं पड़े इसको देखते हुए काम किया जा रहा है और देश को एक ईवी मैन्युफैक्चरिंग हब के तौर पर स्‍थापति किया जा सके।

मुंबई । बीते सप्ताह सेंसेक्स की प्रमुख 10 कंपनियों में से पांच के बाजार मूल्यांकन में पिछले सप्ताह सामूहिक रूप से 1,67,936.21 करोड़ की गिरावट आई। सबसे अधिक नुकसान एचडीएफसी बैंक को हुआ। समीक्षाधीन सप्ताह में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के बाजार पूंजीकरण में गिरावट आई। वहीं आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, भारती एयरटेल, भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) और आईटीसी की बाजार हैसियत बढ़ गई। सप्ताह के दौरान एचडीएफसी बैंक का बाजार मूल्यांकन 1,22,163.07 करोड़ रुपए घटकर 11,22,662.76 करोड़ रुपए रह गया। एचडीएफसी बैंक के शेयर में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट आई। बैंक का शेयर इस दौरान 12 प्रतिशत टूटा। बैंक के दिसंबर तिमाही के नतीजे बाजार उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहे हैं, जिससे इसका शेयर नीचे आ गया। हालांकि शनिवार को एचडीएफसी बैंक का शेयर 0.54 प्रतिशत चढ़ गया। समीक्षाधीन सप्ताह में रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 18,199.35 करोड़ रुपए गिरकर 18,35,665.82 करोड़ रुपए, हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार मूल्यांकन 17,845.15 करोड़ रुपए घटकर 5,80,184.57 करोड़ रुपए, टीसीएस का 7,720.6 करोड़ रुपए के नुकसान के साथ 14,12,613.37 करोड़ रुपए और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की बाजार हैसियत 2,008.04 करोड़ रुपए घटकर 5,63,589.24 करोड़ रुपए रह गई। इस रुख के ‎विपरीत एलआईसी का मूल्यांकन 67,456.1 करोड़ रुपए चढ़कर 5,92,019.78 करोड़ रुपए, भारती एयरटेल का बाजार पूंजीकरण 26,380.94 करोड़ रुपए बढ़कर 6,31,679.96 करोड़ रुपए, इन्फोसिस की बाजार हैसियत 15,170.75 करोड़ रुपए बढ़कर 6,84,305.90 करोड़ रुपए, आईसीआईसीआई बैंक की 3,163.72 करोड़ रुपए के उछाल के साथ 7,07,373.79 करोड़ रुपए और आईटीसी का मूल्यांकन 2,058.48 करोड़ रुपए बढ़कर 5,84,170.38 करोड़ रुपए हो गया। सेंसेक्स की प्रमुख 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर बरकरार रही। उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, भारती एयरटेल, एलआईसी, आईटीसी, हिंदुस्तान यूनिलीवर और एसबीआई का स्थान रहा।

नई दिल्‍ली । अयोध्या में राम मंदिर में भगवान श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के चलते 22 जनवरी को भारतीय शेयर बाजार में अवकाश रहेगा। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज ने एक सर्कुलर जारी कर कहा है कि सोमवार 22 जनवरी को शेयर बाजार में कोई कारोबार नहीं होगा। वहीं भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से भी 22 जनवरी को मुद्रा बाजार के आधे दिन खुले रहने की घोषणा की है। मुद्रा बाजार यानी बॉन्ड, डॉलर या दूसरी करेंसियों की खरीद-फरोख्त से है। आरबीआई के बयान के मुताबिक मुद्रा बाजार 22 जनवरी को दोपहर ढाई बजे तक बंद रहेंगे। उस दिन ये सुबह नौ बजे के बजाय दोपहर ढाई बजे खुलेंगे और इनमें 3:30 के बजाय शाम 5 बजे तक कारोबार होगा। अयोध्‍या में प्राण प्रतिष्ठा के दिन केंद्र सरकार की ओर से आधे दिन की सरकारी छुट्टी का ऐलान किया गया है। वहीं कई राज्‍यों ने भी आधे ‎दिन के अवकाश की घोषणा की है। कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने केंद्रीय संस्थानों और केंद्रीय औद्योगिक प्रतिष्ठानों के संबंध में आदेश जारी किया था कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, बीमा कंपनियां और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) में 22 जनवरी सोमवार को आधे दिन का अवकाश रहेगा। उस दिन आरबीआई के 19 क्षेत्रीय दफ्तरों में 2000 रुपए के नोट भी नहीं बदले जाएंगे। ये प्रक्रिया 23 जनवरी से सामान्य रूप से चलेगी।

 

जयपुर । नगर निगम ग्रेटर महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर एवं आयुक्त श्रीमति रूकमणि रियाड ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2024 के सम्बन्ध में सभी जोन उपायुक्तों, मुख्यालय उपायुक्तों एवं सीएसआई, एसआई को आवष्यक दिशा निर्देश दिये।नगर निगम ग्रेटर महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर एवं आयुक्त श्रीमती रूकमणि रियाड़ की अध्यक्षता में बुधवार को स्वच्छ सर्वेक्षण-2024 के संबंध में बैठक आयोजित की गई। बैठक में सभी जोन उपायुक्तों एवं सीएसआई को रात्रि कालीन सफाई व्यवस्था के लिये निर्देष दिये गये है।
महापौर ने बैठक में द्रव्यवती नदी को साफ करने के लिये जयपुर विकास प्राधिकरण से समन्वय कर साफ करवाने के निर्देष दिये एवं द्रव्यवती नदी के आस-पास ओपन कचरा डिपो हटवाने के निर्देष भी दिये। महापौर ने मानसून से पूर्व नालों की सफाई करवाने एवं टेडर करके उन्हें साफ करवाने के निर्देष दिये।आयुक्त श्रीमती रूकमणि रियाड़ ने सभी अधिकारियों को निर्देष दिये कि ओपन कचरा डिपो हटवाने के निर्देष दिये एवं डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण के लिये रात्रि में सभी उपायुक्तों को बाजारों में हो रहे कचरा संग्रहण की जांच के निर्देष दिये साथ ही सभी प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक उपयोग करने वालों पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देष दिये।

 

नई दिल्ली। कार बनाने वाली स्वदेशी कंपनी महिंद्रा ने अपनी एक्सयूवी 700 का अपडेटेड मॉडल लॉन्च कर दिया है। इस एसयूवी में नए फीचर्स अपडेट किए गए हैं। इस मॉडल की कीमत 13,99 लाख रुपये से शुरू होकर 23,99 लाख रुपये एक्स शोरूम तक जाती है।
सभी एक्सयूवी 700 वेरिएंट में नया नेपोली ब्लैक एक्सटीरियर पेंट शेड मिलता है। वहीं एएक्स7 और एएक्स7एल वेरिएंट में ऑल-ब्लैक ग्रिल और अलॉय व्हील के साथ एक ब्लैक थीम दी गई है। इन दोनों वेरिएंट में ड्यूल-टोन एक्सटीरियर पेंट शेड विकल्प और इंटीरियर पर डार्क क्रोम फिनिश है। इसमें 83 कनेक्टेड कार फीचर्स के साथ ड्राइविंग एक्सपीरिएंस को बेहतर बनाया गया है, जिसमें इकोसेंस लीडरबोर्ड, एम लेंस और टोल डायरी जैसे 13 नए अतिरिक्त फीचर्स शामिल किए गए हैं, जो फ़र्मवेयर ओवर-द-एयर अपडेट के साथ आते हैं।
अपडेटेड महिंद्रा एक्सयूवी 700 में पहले के समान एक 2,0-लीटर टर्बोचार्ज्ड इंजन और दूसरा 2,2-लीटर टर्बो-डीजल इंजन मिलता है। दोनों यूनिट्स को 6-स्पीड मैनुअल और ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ जोड़ा है। केबिन में कंपनी ने कुछ बदलाव किए हैं, एयर वेंट और सेंट्रल कंसोल पर स्टाइलिश डार्क क्रोम फिनिश दिया है।

देश के करोड़ों किसानों को पीएम किसान योजना का लाभ मिल रहा है। नवंबर महीने में सरकार ने इस योजना की 15वीं किस्त जारी की थी।

अब किसान इस योजना की 16वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। कई मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अगले महीने तक इसकी 16वीं किस्त जारी हो सकती है।

सरकार ने इस स्कीम के नियमों को सख्त कर दिया है। अब ऐसे में कई किसानों को इस योजना की किस्त की राशि वापस करनी पड़ रही है। चलिए, आज हम आपको इस स्कीम के नियमों के बारे में बताते हैं।

दरअसल, कई किसान इस स्कीम के पात्र नहीं थे परंतु वह फर्जीवाड़ा करके इस योजना का लाभ उठा रहे थे। जिसकी वजह से सरकार ने इस स्कीम के नियमों को सख्त कर दिया।

पीएम किसान योजना

पीएम किसान योजना में सरकार हर साल किसानों के अकाउंट में 6,000 रुपये की राशि ट्रांसफर करती है। यह राशि किसानों को किस्त में दी जाती है। हर किस्त में किसान के अकाउंट में 2,000 रुपये की राशि डीबीटी के जरिये ट्रांसफर होते हैं।

अभी तक सरकार ने 15 किस्त जारी कर दी है। उम्मीद की जा रही है कि अगले महीने तक 16वीं किस्त भी किसानों के अकाउंट में आ सकती है।

पीएम किसान योजना के नियम

सरकार ने पीएम किसान योजना के लाभार्थी के लिए कुछ नियम बनाए हैं। पीएम किसान योजना के नियम इस प्रकार है:

इस योजना का लाभ केवल उन किसानों को मिलेगा जिनके पास खेती योग्य जमीन है।
इस स्कीम का लाभ परिवार के एक सदस्य को ही मिलेगा। इसका मतलब है कि परिवार में अगर पिता को योजना का लाभ मिल रहा है तो बेटे को इसका लाभ नहीं मिलेगा।
अगर कोई किसान किराए की जमीन पर खेती कर रहा है तो उसे इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा।
वहीं किसी किसान के परिवार के सदस्य कोई प्रोफेशनल यानी वकील, डॉक्टर है तो उन्हें इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा।
इन किसानों को लौटाना पड़ सकता है किस्त की राशि
अगर किसी परिवार के दो सदस्य इस स्कीम का लाभ उठा रहे हैं तो उन्हें स्कीम को सरेंडर करना चाहिए। दरअसल, सरकार द्वारा समय-समय पर बैंक अकाउंट की जांच की जा रही है। जो किसान योग्य नहीं है उन्हें लाभार्थी लिस्ट से बाहर किया जा रहा है।
इसके अलावा जो किसान नियमों के खिलाफ जाकर योजना का लाभ उठा रहे हैं उनके खिलाफ कानूनी कार्रावाई की जा रही है। ऐसे में उन्हें पूरा पैसा वापस करना पड़ सकता है।

नई ‎दिल्ली । इंले‎क्ट्रिक कार टाटा पंच ईवी भारत में लॉन्च हो गई है। इस गाड़ी की शुरुआती कीमत 10.99 लाख रुपये रखी गई है। जो ‎कि 14.49 लाख रुपये तक एक्स शोरूम रहेगी। इस इलेक्ट्रिक कार की बुकिंग पहले ही शुरू कर दी गई थी और इच्छुक ग्राहक 21,000 देकर इसे बुक कर सकते हैं। इस गाड़ी का मुकाबला महिंद्रा एक्सयूवी400 से होगा। इस गाड़ी को 5 वेरिएंट- स्मार्ट, स्मार्ट प्लस, एडवेंचर, एम्पावर्ड और एम्पावर्ड प्लस में ‎निकाला गया है। इसके अलावा इसमें 5 ड्यूल-टोन और 4 मोनो-टोन रंगों का विकल्प भ्ज्ञी उपलब्ध है। टाटा पंच ईवी में दो बैटरी पैक दिए गए है, जिसमें पहला 25‎ किलोवॉट/हॉवर और दूसरा 35 किलोवॉट/हॉवर बैटरी पैक है, जो क्रमशः 315 किलोमीटर प्रति चार्ज और 421 किलोमीटर प्रति चार्ज का रेंज देने में सक्षम हैं। इस इलेक्ट्रिक कार में एक 3.3 किलोवॉट/हॉवर वॉल बॉक्स चार्जर और एक 7.2 ‎मिलोवॉट फास्ट चार्जर का विकल्प मिलता है। इसे 50 ‎मिलोवॉट डीसी फास्ट चार्जर का उपयोग करके 56 मिनट में 10 से 80 प्रतिशत तक चार्ज किया जा सकता है। टाटा पंच ईवी का मिड रेंज 80 बीएचपी की पावर और 114 एनएम की पीक टॉर्क देता है। वहीं लॉन्ग रेंज 120 बीएचपी और 190 एनएम की टॉर्क प्रदान करता है। ये इलेक्ट्रिक कार मात्र 9.5 सेकेंड में 0 से 100 ‎किमी/हॉवर की स्पीड पकड़ लेती है और इसकी टॉप स्पीड 140 ‎किमी/हॉवर है।
अन्य एसेसरीज की बात करें तो इस इलेक्ट्रिक कार में 10.25-इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, वायरलेस एंड्रॉयड ऑटो और ऐपल कारप्ले, ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल, टाटा लोगो के साथ ट्विन-स्पोक स्टीयरिंग व्हील, वायरलेस चार्जर, सनरूफ, ब्लाइंड-स्पॉट मॉनिटर ‎दिय गया है, जब‎कि 360-डिग्री कैमरा, 6 एयरबैग, ट्रैक्शन कंट्रोल, हिल असिस्ट और ईएससी जैसे फीचर्स भी महत्वपूर्ण हैं।

नई दिल्ली । वाहन कंपनी बेनेली भारत में अपनी नई स्पोर्ट्स बाइक टोर्नेडो 400 लांच करने जा रही है। कंपनी ने इस बाइक को नवंबर 2023 में लाने का वादा ‎किया था। लॉन्च के बाद ये बाइक बजाज डोमिनार और टीवीएस अपाचे 390 आरआर जैसी बाइक्स को टक्कर देगी। बताया जा रहा है कि इस बाइक की कीमत करीब 3 से 4 लाख रुपये के आस-पास हो सकती है। अपकमिंग बेनेली टोर्नेडो 400 में 399सीसी का लिक्विड-कूल्ड वाला डीओएचसी, 8-वॉल्व, पैरेलल-ट्विन इंजन दिया जा सकता है, जो 46.6एचपी की अधिकतम पावर और 37एनएम का पीक टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम होगा। इस इंजन को स्लिपर क्लच के साथ 6-स्पीड गियरबॉक्स के साथ जोड़ा जा सकता है। ‎मिली जानकारी के अनुसार, यह बाइक 200 किलोमीटर प्रति घंटे की टॉप स्पीड से चलने में सक्षम होगी। अपकमिंग बाइक में टियर ड्रॉप आकर का फ्यूल टैंक, डे टाइम रनिंग लाइट्स (DRL) के साथ एक अंडाकार एलईडी हेडलाइट, बड़े हैंडलबार, फ्रंट फेंडर और रिब्ड-पैटर्न की आरामदेह सीट ‎मिल रही है।

 

भारतीय जीवन बीमा निगम के शेयर में बुधवार को सुबह के कारोबार में 2% से अधिक की वृद्धि हुई, जिससे इस सरकारी बीमा कंपनी का मार्केट कैप 5.8 लाख करोड़ रुपये के स्तर को पार कर गया। कंपनी के शेयर 52 सप्ताह के उच्चतम स्तर 919.45 रुपये प्रति शेयर के भाव को छू गए।

एलआईसी ने मार्केट कैप के मामले में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को पीछे छोड़ दिया है। ऐसे में एलआईसी अब देश की सबसे मूल्यवान पीयूएसयू बन गई है। बीएसई पर एसबीआई के शेयर 1% की कमजोरी के साथ कारोबार करते दिखे। इसका मार्केट कैप लगभग 5.62 लाख करोड़ रुपये था। नवंबर की शुरुआत से एलआईसी के शेयर की कीमतों में 50 फीसदी से ज्यादा की तेजी आई है।

Page 7 of 242

Ads

फेसबुक